दैनिक भास्कर हिंदी: TRAI चीफ बोले- आधार नंबर से निजी जानकारी हासिल करना संभव नहीं

August 8th, 2018

हाईलाइट

  • TRAI चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा, आधार की वजह से उनके बारे में कोई सूचना सार्वजनिक नहीं हुई।
  • मेरे बारे में जो भी खोजा गया है वह आधार के बिना भी जाना जा सकता है।
  • आरएस शर्मा ने ट्विटर पर आधार नंबर शेयर करते हुए किया था चैलेंज।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) के चेयरमैन आरएस शर्मा के ट्विटर पर आधार नंबर शेयर करने से छिड़ी बहस अब भी खत्म नहीं हुई है। आरएस शर्मा ने कहा, 'मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कह सकता हूं कि आधार की वजह से उनके बारे में कोई सूचना सार्वजनिक नहीं हुई है। जो भी सूचना सामने आई है वह आधार के बिना ही सामने आ सकती है। मेरे बारे में जो भी खोजा गया है वह आधार के बिना भी जाना जा सकता है।' 

क्या है मामला?
ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने अपना 12 अंकों का आधार नंबर ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा था, ‘मैं आपको चैलेंज देता हूं कि आप मुझे नुकसान पहुंचाने का एक उदाहरण दिखाएं।’ इसके कुछ घंटों बाद ही खुद को फ्रांस के सुरक्षा विशेषज्ञ बताने वाले एंडरसन ने ट्राई चेयरमैन का निजी पता, जन्मतिथि, वैकल्पिक फोन नंबर जैसे आंकड़े जारी कर दिए थे। एंडरसन ने कहा था, 'आधार संख्या असुरक्षित है। लोग आपका निजी पता, वैकल्पिक फोन नंबर से लेकर काफी कुछ जान सकते हैं। मैं यही रुकता हूं। मैं उम्मीद करता हूं कि आप समझ गए होंगे कि अपना आधार संख्या सार्वजनिक करना एक अच्छा विचार नहीं है।'

क्या कहा था UIDAI ने?
यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने आधार हैक करने के दावों को खारिज कर दिया था। UIDAI ने कहा था कि ट्विटर पर आरएस शर्मा की जो भी जानकारियां साझा की गई हैं वो पहले से ही इंटरनेट पर मौजूद है। इन्हें आधार डेटाबेस या UIDAI के सर्वर से नहीं लिया गया है। UIDAI ने कहा था कि शर्मा नौकरशाह हैं और उनकी जानकारियां इंटरनेट पर कई वेबसाइट्स पर उपलब्ध हैं। वहीं UIDAI ने ये भी कहा था कि आपका आधार नंबर भी आपके बैंक खाते और मोबाइल नंबर की तरह ही संवेदनशील होता है। जिस तरह आप अपना बैंक अकाउंट और मोबाइल नंबर बिना किसी वजह से शेयर नहीं करते, उसी तरह आपको आधार नंबर भी शेयर नहीं करना चाहिए।