comScore

Jammu and Kashmir: नौशेरा में 3 और आतंकी ढेर, सेना ने बीते 4 दिन में LOC पर घुसपैठ की कोशिश करते 13 आतंकी मार ​गिराए

June 01st, 2020 21:37 IST
Jammu and Kashmir: नौशेरा में 3 और आतंकी ढेर, सेना ने बीते 4 दिन में LOC पर घुसपैठ की कोशिश करते 13 आतंकी मार ​गिराए

हाईलाइट

  • घुसपैठ विरोधी अभियान में 13 आतंकवादियों को मार गिराया गया
  • नौशेरा सेक्टर में आज 3 आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में तीन आतंकवादियों को मार गिराया है। ये सभी आतंकी एलओसी के पास घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे। बता दें कि आज की कार्रवाई को मिलाकर भारतीय सेना ने 28 मई से अब तक जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से घुसपैठ रोकने के अभियान में 13 आतंकी ढेर किए हैं। सेना के एक अधिकारी ने आज तक को बताया कि 28 मई से घुसपैठ विरोधी अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत भारतीय सेना ने पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास घुसपैठ की कोशिश करते हुए कम से कम 10 आतंकियों को मार गिराया है। अधिकारी ने बताया कि पुंछ जिले के गांवों में तलाशी अभियान जारी है।

पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में सोमवार को सुरक्षाबलों ने यह बड़ी कार्रवाई की है। इससे पहले आज सुबह ही नौशेरा सेक्टर में सुरक्षाबलों ने आतंकी घुसपैठ को नाकाम किया था। नियंत्रण रेखा के पास तीन पाकिस्तानी आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। इसकी भनक लगते ही मुस्तैद जवानों ने कार्रवाई शुरू की। इस दौरान सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया है। वहीं इलाके में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

घुसपैठ में आतंकियों की मदद कर रही पा सेना
बता दें कि पाकिस्तानी सेना लगातार आतंकियों को घुसपैठ कराने की नापाक कोशिश कर रही है। इसके लिए पाक सेना आए दिन संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रही है। ऐसे में श्रीनगर में भारतीय सेना, पुलिस और नागरिक प्रशासन की कोर ग्रुप की बैठक हुई थी। इसमें यह तय किया गया था कि घाटी में विभिन्न तंजीमों के आतंकियों का सफाया करने के साथ ही उन्हें आर्थिक मदद पहुंचाने की सप्लाई लाइन को भी काटा जाएगा। इसके लिए उनके मददगारों को चिह्नित कर उन पर शिकंजा कसा जाएगा।

आईईडी से लदी कार को पकड़ा था
हाल ही में जम्मू एवं कश्मीर में पुलवामा जैसी त्रासदी को सुरक्षा बलों ने एक आईईडी (इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) से लदी कार को जब्त कर के रोक दिया था। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में ही विस्फोटक से भरी कार को सुरक्षा बलों के काफिले या रक्षा प्रतिष्ठान को निशाना बनाने के लिए रणनीतिक स्थान पर रखा गया था। कार के भीतर एक नीले ड्रम में विस्फोटक को छिपा कर रखा गया था। बॉम्ब डिस्पोजल स्क्वायड गुरुवार सुबह मौके पर पहुंची और आस-पास से लोगों को दूर जाने को कहा। इसके बाद बम निरोधक दस्ते ने फिर विस्फोटक को डिफ्यूज करने के बजाय वाहन को उड़ा दिया।

जनवरी-फरवरी में सीजफायर उल्लंघन की 646 घटनाएं हुईं 
सेना के सूत्रों के अनुसार अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और एलओसी पर इस साल एक जनवरी से 23 फरवरी तक पाकिस्तान सेना ने 646 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। वहीं, 2019 में इनकी संख्या 3,200 थी। सेना के अफसरों का कहना है कि पाकिस्तान की सेना कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए घुसपैठ कराने की कोशिश में रहती है। इसे कामयाब बनाने के लिए सीमा पार से गोलीबारी की जाती है। 

कमेंट करें
AJNTj