दैनिक भास्कर हिंदी: झारखंड चुनाव रिजल्ट: मोदी के दूसरे कार्यकाल का तीसरा विधानसभा चुनाव, क्या जनता देगी साथ ?

December 23rd, 2019

हाईलाइट

  • भाजपा के सामने सरकार बचाने की चुनौती
  • लोकसभा चुनाव के बाद तीसरे राज्य के चुनाव परिणाम

डिजिटल डेस्क, रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के परिणाम आज (सोमवार) घोषित किए जाएंगे। राज्य की 81 विधानसभा सीटों पर पांच चरणों में मतदान हुए थे। भाजपा के सामने राज्य में अपनी सरकार बचाने की चुनौती है। पूर्ण बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में आए नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद ये तीसरा विधानसभा चुनाव है। 

तीसरा विधानसभा चुनाव

लोकसभा चुनाव के बाद अभी तक तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए हैं। महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड। इन तीन राज्यों में से एक में भाजपा मे सरकार बना ली, लेकिन महाराष्ट्र में ज्यादा सीटें जीतने के बाद सरकार बनाने में असफल रही। महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी ने मिलकर सरकार बना ली है। वहीं हरियाणा में जेजेपी के समर्थन से सत्ता पर काबिज हो गए। 

क्या कहता है एग्जिट पोल?

झारखंड के जो एग्जिट पोल सामने आए हैं, उसमें बीजेपी को नुकसान दिख रहा है। प्रदेश में झारखंड मुक्ति मोर्चा(झामुमो), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) गठबंधन की सरकार बनने की संभावना जाहिर की गई है। इंडिया टुडे-एक्सि माई इंडिया का दावा है कि झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को 81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में 38 से 50 सीटें मिल सकती हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की झोली में करीब 22-32 सीटें आ सकती हैं। कशीश न्यूज एग्जिट पोल में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को 37-49 सीटें दी गई हैं जबकि भाजपा को 25-30 सीटें। आईएएनएस-सीवोटर-एबीपी सर्वे में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को 37-49 सीटें जबकि भाजपा को 25-30 सीटें मिलने की संभावना जाहिर की गई है। सभी एग्जिट पोल में बाबूलाल मरांडी की अगुवाई में झारखंड विकास मोर्चा और सुरेश महतो की अगुवाई में ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) को बढ़त मिलते दिखाया गया है। झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक कानून (सीएए) समेत राष्ट्रीय मुद्दों को प्रमुखता से उभारा था। वहीं, झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन ने स्थानीय मुद्दों और आर्थिक मंदी के मुद्दे को प्रमुखता दी थी।