comScore

J&K: 6 साल बाद गुरेज सेक्‍टर में घुसपैठ, 2 आतंकी ढेर


हाईलाइट

  • 6 सालों से शांत गुरेज सेक्टर में आतंकियों घुसपैठ की
  • सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया
  • अगस्त 2013 में चलाया गया था अंतिम आतंकवाद निरोधक अभियान

डिजिटल डेस्क श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खत्म होने के बाद से ही पाकिस्तान और पाकिस्तानी आतंकी संगठन बौखलाए हुए हैं। 6 सालों से शांत सिंध घाटी के गुरेज सेक्टर में जैश आतंकियों ने एक बार फिर घुसपैठ की। भारतीय सेना ने बताया कि आतंकवादियों ने 27 सितंबर और 3 अक्‍टूबर को गुरेज सेक्टर में इस साजिश को अंजाम दिया और इसी बीच उन्होंने दो आतंकियों को मार गिराया। सेना ने कहा कि LoC के हर तरफ से आतंकवादियों की घुसपैठ कराकर पाकिस्‍तान आतंकी गतिविधियों को गति दे रहा है। इससे पहले गुरेज सेक्टर में आतंकियों ने साल 2013 में घुसपैठ की थी।

पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में आतंकी घुसपैठ कराकर एक बार फिर अपने नापाक इरादों को साफ को किया है। साल 2013 से आतंकमुक्त वातावरण में रहने वाले गुरेज सेक्टर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने 27 सितंबर से 3 अक्टूबर के बीच घुसपैठ की थी, जिसमें 2 आतंकियों को ढेर कर दिया गया। भारतीय सेना के मुताबिक गुरेज सेक्टर पिछले 6 सालों से शांत था और अगस्त 2013 में ही वहां अंतिम आतंकवाद निरोधक अभियान भी चलाया गया था। सेना ने बताया कि पाकिस्तान आतंकी गतिविधियों को बढ़ा रहा है जिससे स्‍थानीय लोग दहशत में हैं। वहीं गुप्त सूत्रों ने भी आतंक‍ियों द्वारा हमले की साजिश रचने की खबर दी है।

इमरान खान ने घुसपैठिये आतंकियों को बताया था कश्मीरियों का मददगार

बता दें कि पड़ोसी देश पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को कश्मीर में घुसपैठ करने की कोशिश करने वाले आतंकियों की पैरवी की थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि 'मैं आजाद जम्मू कश्मीर (दरअसल पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर/POK) के कश्मीरियों का दर्द समझता हूं कि वो भारत अधिकृत कश्मीर/IOK (भारतीय कश्मीर) में अपने साथी कश्मीरियों को 2 महीने से ज्यादा वक्त से अमानवीय कर्फ्यू में देख रहे हैं। लेकिन कोई लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पार करके उनकी मानवीय सहायता या मदद करने के लिए जाता है तो भारत इसे पाकिस्तान प्रायोजित "इस्लामिक आतंकवाद" का नाम देता है।'

कमेंट करें
XS9Je