comScore

J&K: पुलिस ने जारी की जर्नलिस्ट शुजात बुखारी के हत्यारों की तस्वीरें

June 28th, 2018 23:13 IST

हाईलाइट

  • सीनियर जर्नलिस्ट और राइजिंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की हत्या के मामले में चारों हमलावरों की पहचान कर ली गई है।
  • इनका नाम शेख सज्जाद गुल, आजाद अहमद मलिक, मुजफ्फर अहमद भट्ट और नवीद जट्ट है।
  • सभी हमलावर आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े है।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। सीनियर जर्नलिस्ट और राइजिंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की हत्या के मामले में चारों हमलावरों की पहचान कर ली गई है। इनका नाम शेख सज्जाद गुल, आजाद अहमद मलिक, मुजफ्फर अहमद भट्ट और नवीद जट्ट है। सभी हमलावर आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े है। जम्मू कश्मीर के आईजीपी एसपी पाणी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चारों हमलावरों के नाम और तस्वीरें जारी की। इन सभी के खिलाफ नॉन बेलेबल वॉरेंट जारी किया जाएगा। इनमें में एक हमलावर शेख सज्जाद गुल पाकिस्तान का है जिसके खिलाफ लुकआउट नोटिस और इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की तैयारी की जा रही है। वहीं इस मामले में गिरफ्तार किए गए युवक जुबैर कादरी की भूमिका की पुलिस जांच कर रही है। 

पाकिस्तान में रची थी साजिश
आईजीपी कश्मीर एसपी पानी ने बताया कि हमले की साजिश पाकिस्तान में रची गई थी। इसके पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है, जिसके सबूत पुलिस के पास मौजूद है। लश्कर का आतंकी शेख सज्जाद गुल इस हमले का मास्टर माइंड है। वह अभी पाकिस्तान में ही है। मार्च 2017 में वह देश छोड़कर पाकिस्तान चला गया था। 2003 में दिल्ली पुलिस ने इसे एक मामले में गिरफ्तार किया था। वहीं 2016 में जम्मू कश्मीर पुलिस ने भी इसे आतंक से जुड़े एक मामले में गिरफ्तार किया था। शुजात बुखारी की हत्या से पहले वह सोशल मीडिया पर एक कैंपेन चला रहा था। उसके 5-6 पोस्ट भी सामने आए थे। कैंपन को चलाने के लिए अहमद खालिद नाम से एक ट्विटर हैंडल ऑपरेट किया जा रहा था। ये ट्विटर हैंडल पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहा था। आईजीपी ने दावा किया के इसके पर्याप्त सबूत पुलिस के पास मौजूद है। सर्विस प्रोवाइडर की मदद से ये सबूत जुटाए गए है।

कौन है ये आतंकी?
जम्मू कश्मीर पुलिस ने जिन चार हमलावरों की तस्वीरें जारी की है उन सभी का ताल्लुक लश्कर-ए-तैयबा से है। शेख अहमद गुल श्रीनगर का रहना वाला है जो मार्च 2017 में पाकिस्तान चला गया था। दूसरा हमलावर आजाद अहमद मलिक जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग का है। 2016 में वह लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुआ था। तीसरा हमलावर मुजफ्फर अहमद भट्ट जम्मू-कश्मीर के ही कुलगाम जिले का रहने वाला है। वहीं चौथा हमलावर नवीद जट्ट विदेशी आतंकी है। इस साल फरवरी में वह श्री महाराजा हरि सिंह (एसएसएचएस) अस्पताल से पुलिस की गिरफ्त से भाग गया था।

एक युवक भी गिरफ्तार
पुलिस ने इस मामले में एक युवक को गिरफ्तार किया था, जिसने शुजात बुखारी के गार्ड की पिस्तौल चोरी की थी। पुलिस ने इसके पास से दो मोबाइल फोन और पिस्तौल बरामद की थी। हालांकि पुलिस इस मामले में जुबैर कादरी की भूमिका की जांच कर रही है। बताया जाता है कि जुबैर नशे का आदी है।

पुलिस ने जारी किए थे CCTV फुटेज 
गौरतलब है कि, राइजिंग कश्मीर के चीफ एडिटर और सीनियर जर्नलिस्ट शुजात बुखारी की हत्या 14 जून को श्रीनगर प्रेस इन्क्लेव में उनके ऑफिस के बाहर की गई थी। तीन हमलावरों ने इस हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। बुखारी के साथ उनके दो सुरक्षाकर्मियों भी इस हमले में मारे गए थे। इस हमले के तुरंत बाद पुलिस ने CCTV फुटेज जारी किए थे, जिसमे मोटरसाइकिल पर सवार हमलावरों की तस्वीरें कैद हो गई थी। एक हमलावर ने हैलमेट पहना था जबकि दूसरे ने मास्क।

कमेंट करें
hVnKe