दैनिक भास्कर हिंदी: कर्नाटक चुनाव : पीएम मोदी ने महिला कार्यकर्ताओं को दिया जीत का मंत्र

August 30th, 2018

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव के चुनाव प्रचार के बीच पीएम नरेन्द्र मोदी ने राज्य की महिला कार्यकर्ताओं से नमो एप के जरिए बात की। पीएम मोदी लगातार कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रचार कर रहे हैं और इसी बीच उन्होंने पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए नमो एप के जरिए उनसे बात की है। इस दौरान पीएम ने महिला कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को जीत का मंत्र देते हुए कहा कि आज देश महिला नेतृत्व में विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। 

मोदी ने दिया जीत का मंत्र

पीएम मोदी ने कर्नाटक की महिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कर्नाटक का चुनाव सीट या विधानसभा जीतने का चुनाव नहीं है बल्कि बूथ जीतने का चुनाव है। पीएम ने बताया कि केन्द्र सरकार ने बेटियों और महिलाओं को लिए कई लाभकारी योजनाएं बनाईं हैं जिनका प्रचार प्रसार महिला कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर करना चाहिए। बेटी-बचाओ बेटी पढ़ाओ, उज्जवला योजना से देशभर की महिलाओं को फायदा पहुंचा है, सरकार बैंक अकाउंट, मुद्रा योजना और सुकन्या योजना के तहत महिलाओं को सीधा लाभ पहुंचा रही है, जिसका पर्याप्त प्रचार प्रसार होना चाहिए। पीएम ने महिला कार्यकर्ताओं से कहा कि वो सरकार की योजनाओं का घर घर जाकर बखान करें और कांग्रेस के झूठ का पर्दाफाश करें। 

महिला नेतृत्व की तारीफ 

पीएम मोदी ने महिला कार्यकर्ताओं से बातचीत की शुरुआत कन्नड़ भाषा से की, उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार की मौत पर दुख जताया। पीएम ने महिला कार्यकर्ताओं से कहा कि देश में महिला नेतृत्व बढ़ा है और आज देश महिलाओं के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है, हमारे और हमारी पार्टी के लिए महिला फर्स्ट है साथ ही पीएम ने ये भी कहा कि केन्द्र सरकार में महिलाओं को उनकी क्षमताओं के अनुसार पोर्टफोलियो दिया गया है। पीएम ने सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण का उदाहरण देते हुए कहा कि बीते दिनों सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण की दुनिया के पुरुषों के बीच वाली तस्वीर पूरी दुनिया में छाई रही, जो बताता है कि हम महिलाओं को कितना महत्व देते हैं। 

बेटों से भी पूछें सवाल

बातचीत के दौरान महिला कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी से सवाल भी किए जिनके पीएम ने जवाब दिए। एक महिला कार्यकर्ता ने पीएम से महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों को लेकर सवाल किया जिसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि समाज के हर शख्स को इस बात का एहसास होना चाहिए कि वो क्या कर सकता है तभी इसका हल निकलेगा। हर किसी में जिम्मेदारी की भावना होनी चाहिए। पीएम ने कहा कि हमें सिर्फ बेटियों से नहीं बल्कि बेटों से भी सवाल पूछने चाहिए कि वो कहां गया था, क्या कर रहा था ? पीएम ने हाल ही महिला अपराधों पर लाए गए कड़े कानून का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार इसके लिए कड़ा कानून पेश किया है, जिसके तहत अगर कोई मासूम के साथ रेप जैसी हरकत करता है तो उसे फांसी तक की सज़ा हो सकती है। सरकार की कोशिश है कि ऐसे मामलों में जल्द से जल्द सजा हो सके।