दैनिक भास्कर हिंदी: कासगंज हिंसा : चंदन गुप्ता मामले में एक और आरोपी का सरेंडर

February 9th, 2018

डिजिटल डेस्क,कासगंज। यूपी के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान चंदन गुप्ता की हत्या के एक और आरोपी ने सरेंडर कर दिया है। आरोपी आसिफ ने गुरुवार को मुख्‍य न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट कासगंज की कोर्ट में सरेंडर किया है।  बता दें कि आरोपी चंदन की हत्या के बाद से फरार चल रहा था।

गौरतलब है कि इससे पहले पुलिस ने इस मामले के तीन अन्‍य आरोपियों सलीम, नसीम और वसीम को भी गिरफ्तार कर लिया है। कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या के आरोपियों को पकड़ने के लिए यूपी सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स (STF) का गठन किया था। 31 जनवरी को मुख्य आरोपी सलीम को गिरफ्तार किया गया था। सलीम पर छत से गोली चलाने का आरोप है और पुलिस के मुताबिक, सलीम की गोली से ही चंदन की मौत हुई थी। 


शहीद का दर्जा देने की मांग

बीती 7 जनवरी को चंदन गुप्ता का परिवार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला। योगी से मिलकर परिवार ने अपनी मांगों का ज्ञापन उन्हें सौंपा। परिजनों ने चंदन को शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही। इस बीच बुधवार को चंदन के घर पर 50 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया गया। हिंदू संगठन इसके बाद से ही चंदन को शहीद का दर्जा देने की मांग की है।

26 जनवरी को कासगंज में भड़की थी हिंसा

26 जनवरी यानी रिपब्लिक डे पर यूपी के कासगंज जिले के कोतवाली इलाके में बिलराम गेट चौराहे पर विश्व हिंदू परिषद और एबीवीपी वर्कर्स बाइक से 'तिरंगा यात्रा' निकाल रहे थे। इस दौरान नारेबाजी को लेकर समुदाय विशेष के लोगों से बहस हो गई। ये बहस इतनी बढ़ गई कि दोनों तरफ से फायरिंग और पत्थरबाजी शुरू हो गई। इस फायरिंग चंदन गुप्ता नाम के शख्स की गोली लगने से मौत हो गई। इसके बाद कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई और यहां पर तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं सामने आ रही हैं। 28 जनवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता के परिवार वालों को 20 लाख रुपए का मुआवजा देने का एलान किया था।