comScore

हाईकोर्ट: फैसला पक्ष में न सुनाने पर जज पर भड़का वकील, कहा- आपको कोरोना हो जाए

हाईकोर्ट: फैसला पक्ष में न सुनाने पर जज पर भड़का वकील, कहा- आपको कोरोना हो जाए

हाईलाइट

  • जज पर निकाला वकील ने गुस्सा
  • वकील पर लगा अवमानना का आरोप

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोर्ट में जज द्वारा सुनाए गए फैसले से वकील काफी भड़क गया। इस वकील ने न्यायाधीश को जमकर खरी-खोटी सुना दी। यहां तक की कोरोना संक्रमित होने की बात कह दी। दरअसल मामला कोलकाता हाईकोर्ट का है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वकील के इस आचरण से खफा जज ने उसके खिलाफ अवमानना की सिफारिश की है। 

न्यायाधीश दीपांकर दत्ता ने कोर्ट की गरिमा को विफल करने और गलत आचरण करने पर वकील विजय अधिकारी की निंदा की है। उन्होंने वकील को नोटिस भेज 15 दिनों के अंदर जवाब देने को कहा है। बता दें कोविड-19 के कारण कोलकाता हाईकोर्ट 15 मार्च से सिर्फ जरूरी मामलों की सुनवाई कर रहा है। 25 मार्च से कोर्ट मामलों की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कर रहा है। वकील ने कर्ज अदा न करने पर बैंक द्वारा उसके क्लाइंट की बस नीलामी पर रोक लगाने की याचिका अदालत में दी थी। 

बैंक ने बस को 15 जनवरी को ही जब्त कर लिया था। इसपर जस्टिस दत्ता ने मामले पर सुनवाई से इनकार कर दिया। जब न्यायाधीश आपना आदेश देना शुरु किया तो खफा वकील उन्हें टोकते रहें। अधिकारी कोर्ट में हल्ला करते रहें। उन्होंने टेबल को पीटना शुरू कर दिया। जस्टिस ने अपने आदेश में कहा कि वकील बार-बार गलत आचरण के लिए चेतावनी दी गई। उन्हें कहते सुना गया कि मुझे कोरोना वायरस हो जाए, मेरा भविष्य खराब हो जाए। 

कोरोना से लड़ने सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को दिए 5 सुझाव, बताया किस तरह बचेंगे करोड़ों रुपए

जस्टिस ने कहा कि मुझे अपने भविष्य का डर नहीं है। अदालत की गरिमा मेरे लिए पहले है। उन्होंने निर्देश दिया कि ग्रीष्म अवकाश के बाद कोर्ट खुलेगी तब मामला उचित खंडपीठ द्वारा सुना जाएगा। 

कमेंट करें
bwe9u