दैनिक भास्कर हिंदी: पटना पहुंचते ही लालू के स्वागत में मची भगदड़, कई लोग घायल

May 11th, 2018

डिजिटल डेस्क, पटना। लालू प्रसाद यादव अपने बेटे की शादी में शामिल होने के लिए तीन दिन की पैरोल मिलने के बाद पर कल अपराह्न हवाई जहाज से पटना पहुंचे। एयरपोर्ट पर उनकी सांसद बेटी मीसा भारती, बेटे तेज प्रताप और तेजस्वी समेत अनेक लोगों ने उनकी अगवानी की। शाम लगभग 6 बजे उनके पटना पहुंचने का समाचार आम होते ही पटना के जयप्रकाश नारायण हवाई अड्डे पर लालू समर्थकों को हुजूम एकत्र हो गया और उनके समर्थन में जमकर नारेबाजी की गई। वह जैसे ही अपने घर पहुंचे तो वहां उनके प्रशंसकों के बीच उनके निकट जाने के लिए अफरातफरी मच गई। इस दौरान मची भगदड़ में अनेक लोग घायल हो गए। 

 

निकट जाने की लगी होड़ 

हजारों लोगों की भीड़ के बीच बेटी और बेटों ने लालू प्रसाद यादव को व्हील चेयर से सहारा देकर उतारा और इसके बाद परिवार के सदस्यों के साथ लालू कार में सवार होकर सर्कुलर रोड स्थित अपने आवास पहुंचे। लालू के स्वागत में आज इस आवास के दोनों फाटक खोल दिए गए थे। इस दौरान वहां बड़ी संख्या में एकत्र समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच उनके निकट जाने और फूल-मालाएं पहनाने की होड़ लग गई। इसकी वजह से मची भगदड़ में अनेक लोग घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा। अब लालू अगले तीन दिन तक यहीं रहेंगे। वह अपने बड़े पुत्र तेजप्रताप की शादी में आए मेहमानों का स्वागत करेंगे। पैरोल खत्म होने पर वह 14 मई को फ्लाइट से रांची के होटवार जेल के लिए रवाना हो जाएंगे। 

 

12 को है तेजप्रताप की शादी 

शनिवार 12 मई को लालू यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप की शादी है। शाम 7 बजे बारात लालू आवास से पटना एयरपोर्ट के नजदीक वेटनरी कॉलेज के खेल मैदान के लिए निकलेगी। वेटनरी मैदान में बने मंच पर जयमाला की रस्म होगी और यहीं मेहमानों लिए प्रीतिभोज का आयोजन किया जाएगा। वहीं, शादी चंद्रिका राय के सरकारी आवास 5 सर्कुलर रोड में होगा। सगाई 18 अप्रैल को पटना के होटल मौर्या में हुई थी, जिसमें लालू शामिल नहीं हो पाये थे। 

 

जारी रहेगी दवाओं पर निर्भरता 

रिम्स में प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मेडिकल बोर्ड की बैठक में लालू प्रसाद के स्वास्थ्य की स्थिति की समीक्षा की गई। इस समीक्षा में पाया गया कि लालू प्रसाद कई बीमारियों से ग्रस्त हैं। मेडिकल बोर्ड की राय बनी कि उन्हें बाहर भेजा जा सकता है, लेकिन उन्हें नियमित रूप से दवाएं लेनी होंगी। एम्स तथा रिम्स के चिकिसकों के बताए गए निर्देशों का पालन करना होगा। बोर्ड की बैठक में रिम्स अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप, मेडिसिन के डॉ उमेश प्रसाद, कार्डियो के डॉ प्रकाश कुमार व अन्य उपस्थित थे। निदेशक ने बताया कि बोर्ड के निर्णय से जेल अधीक्षक को अवगत करा दिया गया है। 

 

बगैर अनुमति जाने की थी तैयारी 

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद कोर्ट से बिना अनुमति व सूचना के ही पटना जाने की तैयारी में थे। कानून के विशेषज्ञ अधिवक्ताओं की मानें तो लालू प्रसाद का वर्तमान में रिम्स में इलाज जरूर चल रहा है, लेकिन वह डोरंडा मामले में अब भी जेल में ही हैं। ऐसी स्थिति में उनका बेटे के विवाह में बिना अनुमति शामिल होना बड़े संकट खड़े कर सकता था। उन्हें पैरोल नहीं मिलती और वह पटना जाते तो जेल प्रशासन के लिए संकट खड़ा हो जाता और उसे कोर्ट में जवाब देना पड़ सकता था। 

 

लालू की तबीयत में सुधार 

रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद की तबीयत में काफी सुधार दर्ज किया गया है। बुधवार को उनका ब्लड शुगर फास्टिंग में 112 रहा। मंगलवार को यह 154 और रविवार को 214 था। बुधवार को पल्स रेट 72, ब्लड प्रेशर 130/80 रहा। रिम्स के प्रभारी निदेशक डॉ. आरके श्रीवास्तव ने बताया कि लालू प्रसाद की स्थिति स्थिर है। उनका डायबिटीज, पथरी, प्रोस्टेट बढ़ा हुआ है, दाहिनी आंख में शिकायत के साथ अन्य बीमारियां भी हैं। लेकिन नियमित उपचार लेने से उनकी स्थिति में सुधार हुआ है।