comScore

अजित पवार को बड़ी राहत: सिंचाई घोटाले में मिली क्लीन चिट

अजित पवार को बड़ी राहत: सिंचाई घोटाले में मिली क्लीन चिट

हाईलाइट

  • एसीबी ने हाईकोर्ट में दायर किया हलफनामा
  • कहा- अजित पवार का कानूनी कर्तव्य नहीं

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एनसीपी नेता अजित पवार को बड़ी राहत मिली है। महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो ने उन्हें सिंचाई घोटाले में क्लीन चिट दे दी है। 27 नवंबर को इस संबंध में बॉम्बे हाईकोर्ट में एक हलफनामा पेश किया गया। जिसके मुताबिक अजित पवार को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है, क्योंकि सिंचाई परियोजनाओं को जमीन पर उतारने की कानूनी जिम्मेदारी एजेंसियों की थी।

बता दें इससे पहले अजित पवार ने अपनी पार्टी से बगावत कर भाजपा के हाथ मिला लिया था। तब खबरें सामने आई थी कि महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो ने उनके खिलाफ सिंचाई घोटाले के मामले को वापस ले लिया है। उस वक्त एसीबी ने इन खबरों को फर्जी बताया था। एसीबी ने कहा था कि सिंचाई घोटाले से संबंधित 3000 टेंडर जांच के घेरे में हैं। अभी तक जिन टेंडरों की जांच की गई, उनमें एनसीपी नेता के खिलाफ कुछ नहीं मिला। 

महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो के डीजी परमबीर सिंह ने कहा था, 'हम सिंचाई संबंधी शिकायतों में लगभग 3000 निविदाओं की जांच कर रहे हैं। यह जांच की नियमित प्रक्रिया हैं, जिसमें हम 9 मामले बंद कर रहे हैं और इसके अलावा चल रही अन्य जांच जारी रहेंगी जैसा कि वे पहले थीं।'

कमेंट करें
S2JxE