दैनिक भास्कर हिंदी: पीएम मोदी पर धोबी के कुत्ते वाली टिप्पणी पर NCP नेता की सफाई, कहा- यह महज एक कहावत है

September 18th, 2018

हाईलाइट

  • NCP नेता माजिद मेमन ने पीएम मोदी पर की गई अपनी 'धोबी के कुत्ते' वाली टिप्पणी पर सफाई दी।
  • माजिद मेमन ने कहा, 'अगर मेरे बयान से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचती है तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं।'
  • माजिद मेमन ने मोदी की मस्जिद विजिट पर कहा था, अब मोदी की हालत धोबी के कुत्ते जैसी हो जाएगी।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। NCP नेता माजिद मेमन ने पीएम मोदी पर की गई अपनी 'धोबी के कुत्ते' वाली टिप्पणी पर सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि यह एक महज कहावत है और मैंने इसे कहावत के अंदाज में ही कहा। इसका मतलब किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। माजिद मेमन ने कहा, 'अगर मेरे बयान से किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचती है तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं। मेरा प्रधानमंत्री का निरादर करने का कोई इरादा नहीं था। वह बस एक कहावत थी।

गौरतलब है कि इंदौर में बोहरा समाज के लोगों से मिलने पर एनसीपी के नेता माजिद मेमन ने पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि मोदी जी बोहरा समाज को रिझाने के लिए मस्जिद चले गए, अब हिंदू संगठन उन पर सवाल उठाएंगे। उनका हाल धोबी के कुत्ते जैसा हो जाएगा। न वो इधर के रहेंगे ना उधर के रहेंगे।

बता दें कि पीएम मोदी 13 सितंबर को इंदौर में बोहरा समाज की वाअज (प्रवचन) में शिरकत करने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने यहां माणिकबाग स्थित सैफी मस्जिद में कहा था कि सैयदना साहब ने समाज को जीने की सीख दी। उन्होंने दाऊदी बोहरा समाज की जमकर तारीफ भी की थी। पीएम मोदी ने कहा था, 'बोहरा समाज दुनिया को भारत की इस ताकत से परिचित करा रहा है। शांति-सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका महत्वपूर्ण रही है।'

पीएम ने यह भी कहा था कि वे जब गुजरात में थे तो बोहरा समाज ने उनका साथ दिया और अब भी उन्हें बोहरा समाज से प्यार मिल रहा है। पीएम ने कहा था, 'आप सभी के बीच आना मुझे एक नया अनुभव देता है। इमाम हुसैन के पवित्र संदेश को आपने दिल में उतारा। हुसैन ने अन्याय-अहंकार के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। मुझे प्रसन्नता है कि बोहरा समाज का एक-एक जन इस मिशन से जुटा है।'