तमिलनाडु : मुदुमलाई टाइगर रिजर्व में पकड़े गए आदमखोर बाघ की कर्नाटक पुनर्वास केंद्र में हालत गंभीर

October 26th, 2021

हाईलाइट

  • सर्जरी केबाद आदमखोर बाघ की पुनर्वास केंद्र में हालत गंभीर

डिजिटल डेस्क, मैसूर। कथित आदमखोर बाघ को तमिलनाडु में पकड़ लिया गया और बाद में उसे मैसूर चामुंडी रेस्क्यू एंड रिहैबिलिटेशन सेंटर भेजा  दिया गया सर्जरी के बाद उसकी हालत गंभीर है।

सूत्रों ने बताया कि तमिलनाडु में पकड़े गए सात साल के बाघ को एक बछड़े पर हमला करते समय एक टस्कर ने उसके पेट पर चोट पहुंचाई, और उसके जिगर को भी चोट लगी है। हालांकि सर्जरीकर दी गई है। पुनर्वास केंद्र के सूत्रों ने कहा है कि बाघ के बचने की संभावना कम है।

कथित तौर पर आदमखोर बनने के बाद व्यस्क बाघ को तमिलनाडु के वनवासियों ने मुदुमलाई टाइगर रिजर्व में शांत कर पकड़ लिया। शरीर पर चोट के निशान पाए जाने पर मेडिकल टीम बाघ की निगरानी कर रही है।

मुदुमलाई डिवीजन टाइगर-23 के रूप में पहचाने व पकड़े गए बाघ को इलाज के लिए मैसुरु में स्थानांतरित कर दिया गया था। मूल रूप से इसे वंडालूर चिड़ियाघर में स्थानांतरित करने की योजना थी। वनकर्मियों के अनुसार पिछले दो महीनों में तमिलनाडु के नीलगिरि जिले के मुदुमलाई वन क्षेत्र में बाघ ने कथित तौर पर तीन लोगों और लगभग 10 मवेशियों को मार डाला था। करीब एक महीने तक वनकर्मियों द्वारा तलाशी अभियान चलाने के बाद इसे 15 अक्टूबर को पकड़ लिया गया था।

 

(आईएएनएस)