दैनिक भास्कर हिंदी: भारत बंद : मायावती बोलीं- दलितों के नाम पर कुछ जातिवादी लोग फैला रहे हैं हिंसा

April 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। सोमवार को दलित संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के दौरान हुई हिंसक घटनाओं की बसपा सुप्रीमो मायावती ने कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा है, 'बहुजन समाज पार्टी इस आंदोलन में दलितों के साथ खड़ी है, लेकिन हम आंदोलन के नाम पर ऐसी हिंसक घटनाओं के खिलाफ है। यह कतई जायज नहीं है। इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।' हालांकि मायावती ने इन हिंसक घटनाओं के लिए दोष दलित समुदाय को न देते हुए असामाजिक तत्वों को दिया है। उन्होंने कहा है, 'दलितों के नाम पर असामाजिक तत्व हिंसा कर रहे हैं। कुछ जातिवादी लोग राजनीति से प्रेरित होकर इस आंदोलन को हिंसक बना रहे हैं।'

मायावती ने यह भी कहा कि इन घटनाओं में लिप्त लोगों के खिलाफ जरूर कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन दलित और पिछड़ा वर्ग के लोगो को इन मामलों में जबरन निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए। मायावती ने कहा कि कि केंद्र सरकार की दलित और पिछड़ा वर्ग विरोधी नीतियों के कारण आज सड़कों पर आंदोलन हो रहा है। उन्होंने कहा...

  • केंद्र सरकार की जातिवादी सोच के कारण दलितों को उनका कानूनी हक नहीं मिल पा रहा है।
  • दलित और आदिवासी आज भी अपने हक के लिए लड़ रहे हैं।
  • देश के हर कोने में दलितों को अन्याय और उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा है।
  • केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं। 
  • केन्द्र सरकार ने अपनी शक्तियों का प्रयोग कर दलित कर्मचारियों का प्रमोशन भी रोक दिया है।
  • सरकारी संस्थानों का निजीकरण हो रहा है, जिसके चलते आरक्षण खत्म हो रहा है। 
  • हम प्राइवेट सेक्टर में भी आरक्षण लागू करने की मांग करेंगे।


गौरतलब है कि एससी-एसटी एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ कई दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया था। सोमवार को इस बंद का व्यापक असर रहा। कई राज्यों में इस दौरान हिंसक घटनाएं हुई। मध्यप्रदेश और राजस्थान में इन हिंसक घटनाओं में 7 से 8 लोगों के मारे जाने की खबर है।