दैनिक भास्कर हिंदी: मेधा पाटकर और किसानों को राजस्थान सीमा पर रोका गया, यातायात बाधित

November 26th, 2020

हाईलाइट

  • मेधा पाटकर और किसानों को राजस्थान सीमा पर रोका गया, यातायात बाधित

आगरा, 26 नवंबर (आईएएनएस)। मेधा पाटकर के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने की कोशिश करते सैकड़ों किसानों को राजस्थान की सीमा से सटे आगरा जिले के सैयां गांव के पास से रोक दिया गया।

राजस्थान और मध्यप्रदेश के आंदोलनकारी किसान कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल होने के लिए दिल्ली की ओर बढ़ रहे थे।

आगरा और राजस्थान के धौलपुर से पुलिस और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रदर्शनकारियों के साथ चर्चा कर रहे हैं, ताकि यातायात सुचारु हो सके। दोनों ओर से वाहनों की लंबी कतार ने आवागमन को बाधित कर दिया है।

आंदोलनकारी धरने पर बैठ गए हैं और मेधा पाटकर 12 घंटे के अनशन पर हैं।

कामरेड जसविंदर के नेतृत्व में एक समूह सुबह 10 बजे के आसपास आगरा की सीमा पर पहुंच गया, लेकिन उसे आगरा में प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिली।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने एक घंटे तक वाहनों की आवाजाही की अनुमति दी।

मेधा पाटकर की अगुवाई वाला समूह बुधवार रात आगरा सीमा पर पहुंच गया था, मगर उन्हें तमाम कोशिशों के बाद भी आगरा में प्रवेश करने से रोक दिया गया।

किसान नेताओं ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश सरकार के नहीं, बल्कि केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, इसलिए उन्हें बेवजह रोका जा रहा है।

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए मेधा पाटकर ने कहा कि केंद्र सरकार का कानून किसान विरोधी और संवैधानिक अधिकार विरोधी हैं और इन्हें वापस लिया जाना चाहिए।

एकेके/एसजीके

खबरें और भी हैं...