दैनिक भास्कर हिंदी: घुसपैठ की फिराक में LoC के पास बड़ी संख्या में जुटे आतंकी

November 23rd, 2017

डिजिटल डेस्क, जम्मू। सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने बुधवार को बताया कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास बड़ी संख्या में आतंकवादी घुसपैठ करने के प्रयास में हैं लेकिन सुरक्षा बल इनके प्रयासों को विफल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

लॉन्चिंग पैड पर बडी संख्या में आतंकवादी
16वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) सरनजीत सिंह ने कहा, 'लॉन्चिंग पैड पर बडी संख्या में लोग (आतंकवादी) इस ओर आने के लिए खडे़ हैं। सेना अलर्ट पर है और आतंकवादियों को घुसपैठ के प्रयास में सफल नहीं होने देगी।' हम उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। उन्होंने आतंकवादियों को पाकिस्तान के समर्थन के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘जैसे कि आप जानते है कि हमारा पड़ोसी देश (पाकिस्तान) शस्त्र उपलब्ध कराकर आतंकवाद को मदद कर रहा है। वे इनका इस्तेमाल हमारे खिलाफ कर रहे है।’

एक आतंकी को मार गिराया
बता दें कि बुधवार को सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के निकट केरन सेक्टर में आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिश विफल कर दी और एक आतंकी को मार गिराया। इस दौरान मुठभेड़ में एक सैनिक शहीद हो गया। जबकि दो सैनिक घायल हो गए।

बड़ी संख्या में संघर्ष विराम का उल्लंघन
सैन्य कमांडर ने कहा कि भारतीय जवान एलओसी पर संघर्ष विराम उल्लंघन की बढती घटनाओं का पाकिस्तानी सेना को कड़ा जवाब दे रहे है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने उन्हें मुहंतोड़ जवाब दिया है। इसमे कोई उदारता नहीं बरती जाएगी।’’ लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने कहा, ‘‘वे संघर्ष विराम के उल्लंघन में लिप्त है। इस वर्ष उन्होंने बिना किसी कारण के बड़ी संख्या में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है।’

उधर भतीजे की मौत से मसूद अजहर बौखला गया है और बदले की फिराक में है। उसके निशाने पर बीजेपी के कुछ सीनियर कैबिनेट मिनिस्टर्स और एक हाई-प्रोफाइल चीफ मिनिस्टर हैं। खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली है कि पाकिस्तान के खतरनाक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर और लश्कर ए तैयबा जैसे आंतकी संगठन मिलकर एक खौफनाक मिशन को अंजाम देने की साजिश बुन रहे हैं। एजेंसियों को मिले इनपुट के मुताबिक दोनों आतंकी संगठनों ने एक लिस्ट तैयार की है उस लिस्ट में ज्यादातर नेता बीजेपी के हैं।