comScore

जोरामथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री की शपथ

December 15th, 2018 15:06 IST
जोरामथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री की शपथ

हाईलाइट

  • जोरामथंगा ने ली मिजोरम के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ
  • मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी
  • मिजो नेशनल फ्रंट ने 40 में से 26 सीटें जीती

डिजिटल डेस्क, आइजोल। मिजोरम में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित कर दिए गए थे। साल 2018 के विधानसभा चुनाव में मिजो नेशनल फ्रंट सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। एमएनएफ के प्रमुख नेता जोरमथंगा ने शनिवार को मिजोरम के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली। जोरामथंगा का शपथ ग्रहण समारोह दोपहर 12 बजे हुआ। इससे पहले जोरामथंगा ने गुरुवार को मंत्री पद के लिए निर्वाचित विधायकों के नाम राज्यपाल को भेज दिए थे। एमएनएफ विधायक दल के सचिव लालरूतकिमा ने यह जानकारी दी। वहीं लालरिनावमा को मिजोरम विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर घोषित किया गया है।

मंत्रियों की संख्या तय नहीं
मिजोरम में फिलहाल मंत्री पद की शपथ लेने जा रहे विधायकों की संख्या तय नहीं हुई है। मिजोरम के राज्यपाल के राजशेखरन ने बुधवार को आधिकारिक रूप से मिजो नेशनल फ्रंट को सरकार बनाने का न्योता दिया था। विधानसभा सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार राज्यपाल ने अगले मंगलवार को नई विधानसभा का सत्र बुलाने के लिए समन जारी किया है। यह सत्र 39 नए विधायकों के शपथ लेने तक तीन और उससे ज्यादा दिन तक चल सकता है।

एमएनएफ के पास 26 सीट
40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा में मिजो नेशनल फ्रंट को 26 सीटें मिली हैं। वहीं जोरामथंगा ने यह भी साफ कर दिया था कि वे भाजपा के एकमात्र विधायक बुद्धधन चकमा को अपने मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करेंगे। एमएनएफ, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस में शामिल है। मिजोरम में सत्तारुढ़ कांग्रेस पार्टी को इस चुनाव में महज 5 सीटें ही मिल सकी। पिछली चुनावों में कांग्रेस 40 में से 34 सीटों पर विजयी हुई थी।

ऐसे हुआ शपथ ग्रहण 
लालरूतकिमा ने बताया कि शनिवार को शपथ ग्रहण समारोह के दौरान राष्ट्रगान की धुन बजाना, बाइबिल पढ़ाना, फिर प्रार्थना करना भी प्रस्‍तावित था। मिजोरम में मंगलवार को घोषित हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों में मिजो नेशनल फ्रंट ने सबसे ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था।

कमेंट करें
0YMS9
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।