दैनिक भास्कर हिंदी: मोदी सरकार का बड़ा फैसला, UPSC पास किए बिना भी बन सकेंगे अफसर

June 11th, 2018

हाईलाइट

  • मोदी सरकार का बड़ा फैसला।
  • UPSC की परीक्षा पास किए बिना भी अब बन सकेंगे अफसर।
  • प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले सीनियर अधिकारी भी सरकार का हिस्सा बन सकते हैं।
  • सरकार ने लैटरल एंट्री की अधिसूचना जारी करते हुए 10 विभागों में जॉइंट सेक्रेटरी के आवेदन मंगाए हैं।
  • 30 जुलाई तक आवेदन भेज सकते हैं। नियुक्त होने वाले जॉइंट सेक्रेटरीज का कार्यकाल 3 से 5 साल का होगा

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। ब्यूरोक्रेसी में प्रवेश पाने के लिए मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब UPSC की परीक्षा पास किए बिना भी बड़े अफसर बन सकेंगे। दरअसल मोदी सरकार ने बहुप्रतीक्षित लैटरल एंट्री की औपचारिक अधिसूचना जारी कर दी है। रविवार को इन पदों पर नियुक्ति के लिए डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनेल ऐंड ट्रेनिंग के लिए गाइडलाइंस के साथ अधिसूचना जारी की गई। सरकार अब इसके लिए सर्विस रूल में जरूरी बदलाव भी करेगी। 

 

 


सरकार के इस फैसले के बाद अब बड़े अधिकारी बनने के लिए UPSC की सिविल सर्विस परीक्षा पास करना जरूरी नहीं होगा। प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले सीनियर ऑफिसर भी सरकार का हिस्सा बन सकते हैं। लैटरल एंट्री के जरिए सरकार ने इस योजना को नया रूप दिया है। रविवार को इन पदों पर नियुक्ति के लिए डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनेल ऐंड ट्रेनिंग (DoPT) के लिए विस्तार से गाइडलाइंस के साथ अधिसूचना जारी की गई। 

 

प्राइवेट कंपनी के सीनियर अफसरों के लिए अच्छा अवसर  

अधिसूचना के अनुसार मंत्रालयों में जॉइंट सेक्रेटरी के पद पर नियुक्ति होगी। इनका कार्यकाल तीन साल का होगा और प्रदर्शन अच्छा होने पर पांच साल तक के लिए इनकी नियुक्ति की जा सकती है। इन पदों पर आवेदन के लिए न्यूनतम उम्र 40 साल है, जबकि अधिकतम उम्र की सीमा तय नहीं की गई है। इनका वेतन केंद्र सरकार के अंतर्गत जॉइंट सेक्रटरी के बराबर होगा। इसके साथ ही सारी सुविधाएं भी उसी अनुरूप मिलेगी। इन्हें सर्विस रूल की तरह काम करना होगा और दूसरी सुविधाएं भी उसी अनुरूप मिलेंगी। गौरतलब है कि किसी मंत्रालय या सरकारी विभाग में जॉइंट सेक्रटरी का पद बेहद अहम होता है। बड़ी नीतियों को अंतिम रूप देने में या उसके अमल में इनका अहम योगदान होता है। 

 

30 जुलाई तक कर सकते हैं आवेदन

सिर्फ इंटरव्यू के आधार पर इनका चयन होगा। कैबिनेट सेक्रटरी के नेतृत्व में बनने वाली कमिटी इनका इंटरव्यू लेगी। योग्यता के अनुसार सामान्य ग्रेजुएट और किसी सरकारी, पब्लिक सेक्टर यूनिट, यूनिवर्सिटी के अलावा किसी प्राइवेट कंपनी में 15 साल काम का अनुभव वाले आवेदन दे सकते हैं।