दैनिक भास्कर हिंदी: तेलंगानाः प्रेस क्लब में आरक्षण परिरक्षण समिति के अध्यक्ष की पिटाई, FIR दर्ज

May 22nd, 2019

हाईलाइट

  • हैदराबाद के प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हंगामा
  • राष्ट्रीय अनुसूचित जाति परिरक्षण समिति के अध्यक्ष की पिटाई
  • उस्मानिया यूनिवर्सिटी के एक छात्र समेत दोनों पक्षों के खिलाफ केस दर्ज

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। तेलंगाना के हैदराबाद प्रेस क्लब में उस समय हंगामा मच हो गया जब राष्ट्रीय अनुसूचित जाति परिरक्षण समिति के अध्यक्ष पर एक व्यक्ति ने हमला कर दिया। समिति के अध्यक्ष करण श्रीशैलम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे, इसी दौरान एक शख्स ने टेबल पर चढ़कर हमला बोल दिया और जमकर पिटाई की। मारपीट का वीडियो भी वायरल हुआ है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

दरअसल यह घटना 21 मई की है। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति परिरक्षण समिति के अध्यक्ष करण श्रीशैलम प्रेस क्लब में मंच पर बैठकर प्रेस को संबोधित कर रहे थे, तभी सामने से एक युवक वहां पहुंचा और उन पर हमला बोल दिया। जब तक वह कुछ समझ पाते युवक ने अध्यक्ष की जमकर पिटाई कर दी। 

हालांकि वहां पर मौजूद लोगों करण श्रीशैलम को बचाने की कोशिश की और ने घेर कर उनको बाहर निकाला लेकिन हमलावर उनके पीछे-पीछे बाहर तक आ गया। हमलावर ने बाहर भी उन पर लात घूंसे बरसाए। इस दौरान श्रीशैलम जमीन पर गिर गए। बाद में कुछ लोगों ने मिलकर युवक को पकड़ा तब जाकर मामला शांत हुआ। पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है। 

पुलिस ने केस दर्ज कर शुरू की जांच
घटना के बाद करण श्रीशैलम ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने उस्मानिया यूनिवर्सिटी के स्कॉलर पी अलेक्जेंडर के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके बाद स्कॉलर ने भी पुलिस में शिकायत की। अपने शिकायत में पी अलेक्जेंडर ने श्रीशैलम के समर्थकों पर हमला करने का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच में शुरू कर दी है।

गुरुकुल पाठशालाओं में अनियमितताओं पर बात कर रहे थे श्रीशैलम
जानकारी के मुताबिक, श्रीशैलम राज्य की गुरुकुल पाठशालाओं में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए अपनी बात रख रहे थे। बता दें कि तेलंगाना में अनुसूचित जाति-जनजाति के छात्रों के लिए गुरुकुल पाठशाला नाम से आवासीय स्कूल चलाए जाते हैं। इस मुद्दे पर श्रीशैलम ने तेलंगाना के राज्यपाल से भी मुलाकात की थी। इसी सिलसिले में वह प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, लेकिन इसी बीच मारपीट शुरू हो गई। श्रीशैलम का आरोप है, आईपीएस अफसर प्रवीण कुमार एससी-एसटी छात्रों के आवासीय स्कूलों के इस कथित फर्जीवाड़े में शामिल हैं। बता दें कि तेलंगाना सरकार राज्य में ऐसे करीब 270 सामाजिक कल्याण आवासीय स्कूलों का संचालन करती है। 

खबरें और भी हैं...