दैनिक भास्कर हिंदी: छत्तीसगढ़ में मिला कोरोना वायरस का नया वैरिएंट, डॉक्टरों का कहना-इम्यून सिस्टम पर करेगा असर

April 1st, 2021

हाईलाइट

  • कोरोना केस बढ़े तो और नए वैरिएंट सामने आएंगे
  • इम्यून सिस्टम को कमजोर बना देता है नया वैरिएंट
  • प्रदेश में नए वैरिएंट पर रिसर्च की व्यवस्था नहीं

डिजिटल डेस्क, रायपुर। देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर शुरू हो चुकी है। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वहीं दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में आज (गुरुवार 31 मार्च) को कोरोना का नया वैरिएंट देखने को मिला है। कोरोना वायरस ने म्यूटेंट होकर नया रूप ले लिया है। इस नए वैरियंट को N-440 नाम दिया गया है। इसे अभी तक 5 नमूनों में पाया गया है। कहा जा रहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण यह नया वैरिएंट बना है। अगर ऐसे ही कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते रहे तो और नए वैरियंट निकलकर आ सकते हैं, जो और ज्यादा घातक होंगे।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने जानकारी दी है कि पिछले कुछ दिनों में N-440 नाम के नए वैरिएंट 5 नमूनों में पाए गए थे। इसी बीच एक अच्छी खबर यह भी है कि अभी तक प्रदेश में कोई ब्रिटिश वैरिएंट, साउथ अफ्रीकन वैरिएंट और ब्राजीलियन वैरिएंट का नया मामला निकलकर नहीं आया है।

कोरोना केस बढ़े तो और नए वैरिएंट सामने आएंगे
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान AIIMS रायपुर के निदेशक डॉ. नितिन एम. नागरकर ने बताया कि छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, इस वजह से नया वैरिएंट निकलकर आया है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसे ही कोरोना के मामले बढ़ते रहे तो म्यूटेंट होकर और नए वैरिएंट देखने को मिल सकते है। डॉ ने आगे कहा की अभी इस नए वैरिएंट के असर के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। फिलहाल, प्रदेश में कोरोना के नए वैरिएंट के रिर्सच की सुविधा नहीं है। रायपुर AIIMS, हर हफ्ते कुछ नए नमूनों को जांच के लिए नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट भेजता हैं।

इम्यून सिस्टम को कमजोर बना देता है नया वैरिएंट
अभी डॉक्टरों को इसके बारे में ज्यादा कुछ जानकारी नहीं है, कहा जा रहा है कि इसका असर शरीर के इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाएगा। जानकारी के अनुसार, रायपुर मेडिकल कॉलेज के कुछ डॉक्टरों ने कहा कि N-440 पर कोई केस स्टडी सामने नहीं आई है। लेकिन, नया वैरिएंट से रोग प्रतिरोधक क्षमता को खत्म करने और इम्यून सिस्टम को तेजी से कमजोर बनाने में सक्षम है। अच्छी इम्यूनिटी रखने वाले लोग भी  इस नए वैरिएंट का शिकार बन रहे हैं।

प्रदेश में नए वैरिएंट पर रिसर्च की व्यवस्था नहीं
बताया जा रहा है कि प्रदेश में अभी वायरस के नए वैरिएंट पर रिसर्च की कोई व्यवस्था नहीं है। रायपुर AIIMS हर सप्ताह कुछ नमूनों को नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट भेजता है। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल इनकी जांच के बाद रिपोर्ट जारी करता है। इससे नए वैरिएंट या वायरस के म्यूटेट होने की जानकारी सामने आती है। पिछले सप्ताह यह पहली बार हुआ, जब वायरस में दोहरे म्यूटेशन का पता चला था।

अब तक 3.49 लाख संक्रमित, 4170 की मौत
छत्तीसगढ़ में अभी तक 3.49 लाख कोरोना के मामले दर्ज किए जा चुके है, जिनमें से 3.19 लाख लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं। वहीं  4170 लोगों की वायरस से मौत का आकड़ा सामने आया है। बुधवार को प्रदेश में एक दिन में 4,563 नए केस मिले, वहीं 28 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई। 

खबरें और भी हैं...