comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

यूपी: नर्सों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले जमातियों पर लगा NSA, सीएम योगी बोले- छोड़ेंगे नहीं


हाईलाइट

  • गाजियाबाद में नर्सों के साथ बत्तीमीज का मामला
  • सीएम योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन हैं

डिजिटल डेस्क,गाजियाबाद। उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद में नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले तबलीगी जमात (Tablighi Jammat) के लोगों पर सख्त कार्रवाई होने जा रही। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने इन लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इससे पहले भी 6 जमातियों पर एफआईआर दर्ज की गई थी। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये लोग ना कानून को मानेंगे, न व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं। जो इन्होंने महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किया वो जघन्य अपराध है। इन पर NSA लगाया जा रहा है। हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं।  वहीं यूपी सरकार ने निर्देश दिया है कि क्वारंटाइन में रखे गए तबलीगी जमात कार्यक्रम में शामिल लोगों के इलाज और सुरक्षा में महिला स्वास्थ्य कर्मी और महिला पुलिसकर्मियों को तैनात नहीं किया जाएगा। 

बता दें गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल के कुछ स्टाफ ने 1 अप्रैल को मुख्य चिकिस्ताधीक्षक को अस्पताल स्टाफ की ओर से शिकायत पत्र लिख था। पत्र के मुताबिक अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कई जमाती मरीज स्टाफ और नर्सिंग स्टाफ के साथ बत्तीमीज से पेश आ रहे है। इनमें कुछ जमाती और संदिग्ध कोरोना संक्रमित ऐसे भी हैं जो, नर्सिंग स्टाफ के सामने अधनंगी हालत में ही घूमना शुरू कर देते हैं। इतना ही नहीं वार्ड में मौजूद नर्सिंग स्टाफ के साथ हदें पार करते हुए अश्लील गाने तक गाने से बाज नहीं आ रहे हैं।

कोरोना: तब्लीगी जमातियों ने डॉक्टरों से की बदसलूकी, स्टाफ पर थूका

बात महिला स्टाफ तक ही सीमित नहीं रही। इन जमातियों (दिल्ली की निजामुद्दीन बस्ती स्थित मरकज तबलीगी जमात मुख्यालय से लौटकर कोरोना संदिग्ध हुए) ने बेहूदगी की तमाम हदें तब पार कर दीं जब, वार्ड में मौजूद स्टाफ से यह लोग मादक पदार्थों मसलन तम्बाकू, बीड़ी सिगरेट तक की मांग करने लगे।

मामले की गंभीरता को समझते हुए अगले ही दिन (शिकायत मिलने के) यानि गुरुवार 2 अप्रैल 2020 को मुख्य चिकित्सा अधिकारी, एमएमजी अस्पताल ने जिलाधिकारी, एसएसपी गाजियाबाद, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी और थाना घंटाघर कोतवाली पुलिस के पास लिखित में भेज दिया।

कमेंट करें
QLqyw