दैनिक भास्कर हिंदी: चंद्रयान-2 की देखें लाइव लॉन्चिंग, 19 तारीख से शुरू हो रहे रजिस्ट्रेशन

July 19th, 2019

हाईलाइट

  • ISRO के दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग 22 जुलाई को होगी
  • इसे देखने के लिए रिजस्ट्रेशन 19 जुलाई से शुरू होगा
  • चंद्रयान-2 को इससे पहले 15 जुलाई को लॉन्च किया जाना था

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग 22 जुलाई को होगी। इसे देखने के लिए रिजस्ट्रेशन 19 जुलाई से शुरू होगा। चंद्रयान-2 को 15 जुलाई को लॉन्च किया जाना था, लेकिन तकनीकि गड़बड़ी के चलते इसे रोक दिया गया था।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की जानकारी देते हुए, इसरो ने ट्विटर पर लिखा, 'सतीश धवन स्पेस सेंटर (SDSC) श्रीहरिकोटा से GSLV MK-III-M1/चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को देखने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 19 जुलाई, 2018 को शाम 6 बजे से शुरू होगा।' ISRO ने इस ट्वीट के साथ रजिस्ट्रेशन लिंक भी दिया है। 

 

 

ISRO की वेबसाइट में जानकारी दते हुए कहा गया है कि भारत के सतीश धवन स्पेस सेंटर से होने वाले प्रक्षेपणों को देखने के लिए यहां एक स्पेस थीम पार्क बनाया गया है। इस पार्क में रॉकेट गार्डन, लॉन्च व्यू गैलरी और स्पेस म्यूजियम है। स्पेस सेंटर तक पहुंचने के लिए सबसे करीबी रेलवे स्टेशन आंध्र प्रदेश का सुल्लुरपेटा है जो कि श्रीहरिकोटा से 18 किमी दूर है। इसके अलावा, सुल्लुरपेटा से श्रीहरिकोटा तक पब्लिक और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट उपलब्ध है।

बता दें कि 22 जुलाई को दोपहर 2:43 बजे चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाएगा। चंद्रयान-2 को 15 जुलाई को तड़के 2.51 पर जीएसएलवी मार्क 3 (GSLV-MK3) रॉकेट से लॉन्च किया जाना था, लेकिन 56 मिनट 24 सेकंड पहले इसमें तकनीकी खराबी आ गई और इसकी लॉन्चिंग को रोक दिया गया।

चंद्रयान-2 के तीन हिस्से हैं। पहला हिस्से का नाम ऑर्बिटर, दूसरा लैंडर (विक्रम) और तीसरा रोवर (प्रज्ञान) हैं। इस प्रोजेक्ट की लागत 978-1000 करोड़ रुपए के बीच है। स्वदेशी तकनीक से निर्मित चंद्रयान-2 में कुल 13 पेलोड हैं। 8 ऑर्बिटर में, तीन पेलोड लैंडर 'विक्रम' और दो पेलोड रोवर 'प्रज्ञान' में हैं।