दैनिक भास्कर हिंदी: आप की लोकतंत्र बचाओ रैली, केजरीवाल बोले- किसी भी 12वीं पास को वोट मत देना, पढ़े लिखे को चुनना

February 14th, 2019

हाईलाइट

  • दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सरकार ने जंतर मंतर पर तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ रैली का आयोजन किया।
  • केजरीवाल की इस महारैली में ममता बनर्जी, एनसीपी प्रमुख शरद यादव, आरएलडी के त्रिलोक त्यागी, फारूक अबदुल्ला, सपा से राम गोपाल यादव, यशवंत सिंहा जैसे सियासत के कई बड़े नामों ने शिरकत की।
  • सत्तारूढ़ भाजपा सरकार को जमकर घेरा।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मोदी विरोधी रैली के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सरकार ने जंतर मंतर पर तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ रैली का आयोजन किया। केजरीवाल की इस महारैली में ममता बनर्जी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, आरएलडी के त्रिलोक त्यागी, फारूक अबदुल्ला, सपा से राम गोपाल यादव, यशवंत सिंहा जैसे सियासत के कई बड़े नामों ने शिरकत की। नई दिल्ली के जंतर मंतर पर आयोजित इस महारैली में विपक्ष ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री पर जमकर हमला बोला। आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने बताया कि तानाशाही हटाओ, लोकतंत्र बचाओ रैली में विपक्ष के सारे नेताओं को आमंत्रित किया गया था। 

लोकसभा चुनाव के पास आते ही सियासी चहल पहल शुरू हो गई है। मामता बनर्जी की महारैली, चंद्रबाबू नायडू की भूख हड़ताल के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने विपक्ष के लगभग सारे नेताओं के दिल्ली के जंतर मंतर पर जुटाया। सरकार विरोधी पहल में मौजूद सारे विपक्ष ने वर्तमान सरकार को जमकर घेरा। इसके पहले केजरीवाल ने ट्विटर पर विपक्ष के नेताओं को आमंत्रित करते हुए लिखा था कि देश में लोकतंत्र और आजादी की रक्षा के लिए कई महान क्रांतिकारियों ने अपनी जान दी है, हम उनकी शहादत को बेकार नहीं जाने देंगे।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी जी आप कैसे हैं, जरा अपनी शक्ल आईने में देखो, रावण का भी आपकी तरह 56 इंच का ही सीना था। ममता ने कहा कि भाजपा सरकार में डेमोक्रेसी मोदीक्रेसी बन गई है, जिन्होंने देश के लोगों का खून पिया वही आज देश पर राज कर रहे हैं। ममता ने सरकार पर जासूसी का आरोप लगाते हुए कहा कि मेरा और आपका फोन लगातार निगरानी में है, बीजेपी चाहे जो कर ले तृणमूल कांग्रेस सारी सीट जीतेगी। आखिर में ममता ने विपक्ष को एकजुट करने के लिए केजरीवाल का धन्यवाद किया।

फारूख अबदुल्ला ने कहा कि भगवान राम किसी एक के नहीं हैं, वे सभी के हैं, जब आप मरने के बाद उनके पास जाओगे तो वो आपको माफ नहीं करेंगे। इसके अलावा सीताराम येचुरी ने भी मोदी और अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से की। 

भारतीय जनता पार्टी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी विपक्ष के सुर में सुर मिलाया। केजरीवाल की लोकतंत्र बचाओ रैली में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं महागठबंधन को अपनी तरफ से पूरा समर्थन दूंगा। रैली में आप नेता मनीष सिसोदिया ने कहा कि देश की तमाम पार्टियां मोदी को दिल्ली की गद्दी से हटाने के लिए एक हो चुकी है, ताकि देश को बचाया जा सके। शत्रुघ्न ने कहा कि पार्टी से पहले देश है, मैं पहले भारतीय जनता का हूं उसके बाद भारतीय जनता पार्टी का, मेरा उनसे कोई भी व्यक्तिगत बैर नहीं है, लेकिन मैं चमचा नहीं हूं।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नारा चन्द्र बाबू नायडू ने ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल की जमकर तारीफ की। नायडू ने कहा कि हमारे केजरीवाल जी और ममता जी बहुत ही प्रभावशाली नेता हैं, जब जब केंद्र ने सताया केजरीवाल ने हमें बचाया, हमें उनका साथ देना चाहिेए। नायडू के अनुसार दोनों को मोदी सरकार द्वारा बेवजह सताया जा रहा है, मैं मोदी के रवैये का पुरजोर विरोध करता हूं। इसके साथ ही चन्द्रबाबू ने कहा कि मोदी को नहीं भूलना चाहिए कि वो भी कभी एक राज्य के मुख्यमंत्री थे। 

कार्यक्रम के दौरान भीड़ को संबोधित करने आए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी मोदी पर जमकर हमला बोला। केजरीवाल ने कहा कि मोदी के सत्ता में आने के बाद से दिल्ली में करप्शन फिर से बढ़ गया है। आप पाकिस्तान के पीएम की तरह काम कर रहे हैं, हम आपका सम्मान करते हैं अगर आपकी जगह पाक प्रधानमंत्री होता तो हम दिखाते कि हमारा खून भी कितना गर्म है। केजरीवाल ने भीड़ को सचेत करते हुए कहा कि कृप्या एक पढ़े लिखे को चुने, किसी भी 12वीं पास को ना दें वोट, मोदी संविधान को खत्म कर देना चाहते हैं। इसके बाद केजरीवाल ने फिर पीएम को राफेल विवाद में घेरते हुए कहा कि मोदी ही हैं जो पूरे भ्रष्टाचार के पीछे का कारण हैं, मोदी ने किसी की बात को ना मानते हुए अनिल अंबानी को ठेका देने का काम किया है।

आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय के मुताबिक रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला और एनसीपी के प्रमुख शरद यादव हिस्सा लेंगे। गोपाल राय ने बताया कि समाजवादी पार्टी, डीएमके, राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रीय लोक दल और अन्य पार्टियों के नेता भी महा रैली को संबोधित करेंगे। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी रैली में शामिल होने का निमंत्रण भेजा गया है। बता दें कि इस रैली वे सभी विपक्षी नेता शामिल होंगे जो पिछले महीने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष बनर्जी की ओर से आयोजित की गई भाजपा विरोधी रैली में आए थे। 

खबरें और भी हैं...