दैनिक भास्कर हिंदी: J&K : राजनीतिक उथल-पुथल के बीच उमर अब्दुल्ला से मिले PDP के चार विधायक 

August 30th, 2018

हाईलाइट

  • उमर अब्दुल्ला से मिले पीडीपी के चार विधायक
  • उमर अब्दुल्ला ने स्पष्ट किया हमारी किसी से भी नहीं हुई मुलाकात
  • गठबंधन टूटने के बाद राजनीतिक जोड़-तोड़ शुरू

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में BJP और PDP के बीच गठबंधन टूटने के बाद से राजनीतिक जोड़-तोड़ शुरू हो गया है। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के चार विधायकों ने नेशनल कांफ्रेस के प्रमुख उमर अब्दुल्ला से मुलाकात की है। खबर है कि चारों विधायक महबूबा मुफ्ती से नाराज चल रहे थे, लेकिन इस बात को खारिज करते हुए उमर अब्दुल्ला ने स्पष्ट किया है कि ऐसी कोई मुलाकात हमारे बीच नहीं हुई है।

बता दें कि गठबंधन टूटने के बाद उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल से मुलाकात कर अपने इरादे साफ कर दिए हैं। उन्होंने कहा, "मैंने राज्यपाल से मुलाकात की है। मैंने उनसे कहा कि एनसी के पास 2014 में जनादेश नहीं था और न ही 2018 में है।" कश्मीर में राजनीतिक जोड़-तोड़ को लेकर उमर ने साफ कहा है कि "हम सरकार बनाने के लिए किसी से बातचीत नहीं कर रहे हैं। हमसे किसी ने संपर्क नहीं किया है। हम भी किसी से संपर्क नहीं करने वाले हैं।

"उन्होंने कहा कि इस स्थिति में राज्यपाल शासन लागू होना चाहिए, लेकिन यह लंबे समय तक के लिए नहीं होना चाहिए। जल्द कश्मीर में चुनाव कराने चाहिए, ताकि लोग एक बार फिर अपनी सरकार चुन सके। बताया जा रहा है कि उमर अब्दुल्ला से मुलाकात करने वाले विधायकों में अब्दुल हक खान, हसीब द्राबू, माजिद पाडर और चौधरी कमर का नाम समाने आया है। हालांकि इस बात को उमर पहले ही खारिज कर चुके है। 

गठबंधन के अंत से BJP की चुनावी शुरूआत 
गठबंधन टूटने के बाद से BJP कश्मीर में सक्रियता देखने लगी है। अमित शाह के नेतृत्व में BJP शक्ति प्रदर्शन करने वाली है। BJP 2019 के लिए चुनाव प्रचार की रणनीति बनाने जा रही है। स्पष्ट है कि BJP अल्पसंख्यकों का, खासकर मुसलमानों का वोट उसके हिस्से में आना मुश्किल है। इसलिए PDP से नाता तोड़कर उस मजबूरी से मुक्ति पा ली है।