दैनिक भास्कर हिंदी: पीएफ महाघोटाला उप्र सरकार की घोर नाकामी : मायावती

November 5th, 2019

हाईलाइट

  • पीएफ महाघोटाला उप्र सरकार की घोर नाकामी : मायावती

लखनऊ, 5 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड में कर्मचारियों के हजारों करोड़ रुपये के पीएफ घोटाला मामले को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने मंगलवार को प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने घोटाले के दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करते हुए इसे उप्र सरकार की घोर नाकामी करार दिया।

मायावती ने ट्वीट किया, यूपी के हजारों बिजली इंजीनियरों/कर्मचारियों की कमाई के भविष्य निधि (पीएफ) में जमा 2200 करोड़ से अधिक धन निजी कंपनी में निवेश के महाघोटाले को भी भाजपा सरकार रोक नहीं पाई तो अब आरोप-प्रत्यारोप से क्या होगा? सरकार सबसे पहले कर्मचारियों का हित व उनकी क्षतिपूर्ति सुनिश्चित करे।

उन्होंने आगे लिखा, इस पीएफ महाघोटाले में यूपी सरकार की पहले घोर नाकामी व अब ढुलमुल रवैये से कोई ठोस परिणाम निकलने वाला नहीं है, बल्कि सीबीआई जांच के साथ-साथ इस मामले में लापरवाही बरतने वाले सभी बड़े ओहदे पर बैठे लोगों के खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई करने की जरूरत है, जिसका जनता को इंतजार है।

उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन के एक लाख से अधिक कर्मचारियों की सामान्य भविष्य निधि (जीपीएफ )और अंशदायी भविष्य निधि (सीपीएफ ) के 2267़ 90 करोड़ रुपये दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) में फंस गए हैं। कर्मचारियों और विपक्षी नेताओं ने यह मुद्दा उठाया तो सरकार ने इस संबंध में शनिवार को कई कार्रवाई शुरू की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इसके लिए जिम्मेदार लोगों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं। इसमें नामजद पावर कॉर्पोरेशन के तत्कालीन निदेशक (वित्त) सुधांशु द्विवेदी तथा तत्कालीन सचिव (ट्रस्ट) प्रवीण कुमार गुप्ता को गिरफ्तार करने के बाद जेल भेजा जा चुका है। प्रवीण गुप्ता को आगरा और सुधांशु द्विवेदी को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था।