दैनिक भास्कर हिंदी: भारत की मदद से अब पूरे श्रीलंका में दौड़ेगी एम्बुलेंस, पीएम मोदी ने दिखाई हरी झंडी

July 21st, 2018

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत सरकार की मदद से श्रीलंका में शुरू की गई एंबुलेंस सेवा को ई-झंडी दिखाई।
  • अब तक ये सेवा श्रीलंका के दो प्रांतों में थी जिसका अब सात प्रांतो में विस्तार किया गया है।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने इस समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही संबोधित किया।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को भारत सरकार की मदद से श्रीलंका में शुरू की गई एंबुलेंस सेवा के एक्संटेशन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई। अब तक ये सेवा श्रीलंका के दो प्रांतों में थी जिसका अब सात प्रांतो में विस्तार किया गया है। उद्घाटन समारोह, श्रीलंका के जाफना में आयोजित किया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने इस समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही संबोधित किया। श्रीलंका के प्रधानमंत्री रणिल विक्रमसिंघे सहित कई लोग कार्यक्रम में मौजूद रहें।

 

 

क्या कहा पीएम मोदी ने?
पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने पिछले साल श्रीलंका यात्रा के दौरान वादा किया था कि श्रीलंका को एंबुलेंस सेवाओं के लिए भारत सहयोग देगा। पीएम ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारत ने समय पर अपना वादा पूरा कर लिया है और इस सेवा के दूसरे चरण की शुरुआत की है। उन्होंने खुशी जताते हुए कहा कि यह वह अवसर है जब श्रीलंका में राष्ट्रीय आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा विस्तारित की जा रही है। यह कार्यक्रम भारत और श्रीलंका की विकास साझेदारी में एक और बड़ी उपलब्धि को चिह्नित करता है।

 

 



श्रीलंका विशेष और भरोसेमंद साथी
पीएम मोदी ने कहा, 'यह सिर्फ एक को-इंसिडेंट नहीं है कि भारत इंमरजेंसी एंबुलेंस सेवा को शुरू करने में श्रीलंका का पार्टनर बना है। अच्छे और बुरे हर समय में भारत श्रीलंका के साथ रहा है और रहेगा। जब मैं श्रीलंका को देखता हूं, तो मैं न केवल पड़ोसी को देखता हूं, बल्कि दक्षिण एशिया और हिंद महासागर में भारत का एक बहुत ही विशेष और भरोसेमंद साथी देखता हूं। हमारे लोगों को एक दूसरे के साथ लगातार संपर्क में होना चाहिए। ताकि हम एक-दूसरे को और भी बेहतर तरीके से जान सकें और ज्यादा करीबी दोस्त बन सकें। मैं आपको भारत आने के लिए प्रोत्साहित करता हूं, ताकि आप नया भारत किस तरह से आकार ले रहा है इसका अनुभव कर सकें।'

 

 



एंबुलेंस के लिए 22.8 मिलियन US डॉलर का अनुदान
भारत ने श्रीलंका को इस सेवा के लिए 22.8 मिलियन यूएस डॉलर का अनुदान दिया है। पहले चरण में जहां 7.6 मिलियन डॉलर दिए गए थे तो वहीं दूसरे चरण में 15.2 मिलियन डॉलर दिए गए। पहले चरण में दो प्रांतो के लिए 88 एंबुलेंस खरीदी गई थी। दूसरे चरण के लिए 209 एंबुलेंस खरीदी गई। ये एंबुलेंस देश के सभी जिलों में चलाई जाएगी। यह इंडियन हाउसिंग प्रोजेक्ट के बाद श्रीलंका में सबसे बड़ी भारतीय अनुदान परियोजना है।