दैनिक भास्कर हिंदी: BRICS में पीएम मोदी ने दिया 'सबका साथ, सबका विकास' का संदेश

September 5th, 2017

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। मंगलवार को BRICS समिट का आखिरी दिन है। आज ही के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपित शी जिनपिंग की मुलाकात होने वाली है। दोनों नेताओं के बीच होने वाली ये मुलाकात कई मायनों में खास है, क्योंकि दोनों देशों के बीच पिछले कुछ महीनों से बॉर्डर पर तनातनी चल रही थी। इससे पहले मंगलवार सुबह पीएम मोदी बिजनेस काउंसिल में शामिल हुए। इस दौरान पीएम मोदी ने एक बार फिर आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए 'सबका साथ, सबका विकास' का संदेश दिया। 

आतंकवाद के खिलाफ साथ होकर लड़ना होगा

मंगलवार को बिजनेस काउंसिल को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ना होगा। हम सभी को आतंकवाद के खिलाफ नए कदम उठाने होंगे। पीएम ने आगे कहा कि हम मजबूत इंटरनेशनल रिलेशन के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। पीएम ने इस दौरान 'सबका साथ, सबका विकास' का संदेश भी दिया। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने बिजनेस को आसान करने के लिए कई कदम उठाए हैं। भारत तेजी से बढ़ता हुआ देश है। पीएम ने आगे कहा कि विकास के लिए सभी देश को आगे आना जरूरी है। पीएम मोदी ने कहा कि हम लोगों को साथ काम करने की जरुरत है, हमने डिजिटल क्षेत्र में कई काम किए हैं। पीएम ने बताया कि भारत अफ्रिका के साथ मिलकर कई प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है। 

चीन ने आतंकवाद पर बात करने पर जताई थी आपत्ति

BRICS समिट शुरु होने से पहले चीन ने आतंकवाद पर बात करने से मना कर दिया था, लेकिन उसकी आपत्ति के बाद भी पीएम मोदी ने इस समिट में आतंकवाद का मुद्दा जोर-शोर से उठाया। चीन की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा था कि, 'पाकिस्तान हमेशा से आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए कोशिश कर रहा है और इसके लिए उसने बलिदान भी दिए हैं। इंटरनेशनल कम्युनिटी को भी इस बात को मानना चाहिए।' हुआ ने आगे कहा था, 'जब पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी होने की बात आती है तो भारत की कुछ चिंताएं होती हैं, लेकिन हम नहीं मानते कि BRICS में इस बात की चर्चा होनी चाहिए।'