comScore

उपलब्धि: पीएम मोदी ने तोड़ा वाजपेयी का रिकॉर्ड, सबसे लंबे वक्त तक सत्ता में रहने वाले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने


हाईलाइट

  • मोदी ने तोड़ा वाजपेयी का रिकॉर्ड
  • गैर कांग्रेसी PM के रूप में सबसे लंबा कार्यकाल
  • 2014 में पहली बार पीएम बने थे नरेन्द्र मोदी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गैर-कांग्रेसी मूल के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले भारतीय पीएम बन गए हैं। 67 वर्षीय, पीएम मोदी ने भारतीय जनता पार्टी के अटल बिहारी वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने अपने सभी कार्यकालों को मिलाकर 2268 दिनों तक देश की सेवा की थी। पीएम मोदी भारतीय इतिहास में चौथे सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले प्रधानमंत्री भी बन गए हैं। 

2014 में पहली बार पीएम बने थे नरेन्द्र मोदी
बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की अगुआई में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की थी। उन्होंने 26 मई 2014 को भारत के 14वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली। बाद में 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने और भी बड़ी जीत हासिल की और 30 मई 2019 को नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बने। अब वह भारतीय इतिहास में चौथे सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले प्रधानमंत्री बन चुके हैं।

narendra modi takes oath as first term prime minister on 26 may ...

वहीं वाजपेयी 3 बार भारत के प्रधानमंत्री रहे। पहली बार वह 1996 में पीएम बने लेकिन बहुमत साबित नहीं कर पाए। उसके बाद वह 1998 और 1999 में प्रधानमंत्री बने और 2004 तक सत्ता में रहे थे।

Bharat Ratna Atal Bihari Vajpayee: A career in pictures

जवाहर लाल नेहरू सबसे लंबे वक्त तक रहे प्रधानमंत्री
सबसे ज्यादा दिनों तक प्रधानमंत्री बने रहने का रिकॉर्ड देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के नाम है। उन्होंने 16 साल और 286 दिनों तक सेवा की थी (15 August 1947 – 27 May 1964)।

'Tryst With Destiny': Jawaharlal Nehru's ...

दूसरे नंबर पर उनकी बेटी इंदिरा गांधी है जिनका प्रधानमंत्री के तौर पर कार्यकाल करीब 16 सालों का रहा। पहली बार वह (24 January 1966 – 24 March 1977) तक और दूसरी बार (14 January 1980 – 31 October 1984) तक पीए रही।

Indira Gandhi Birth Anniversary: जानिए भारत की आयरन ...

तीसरे नंबर पर मनमोहन सिंह का नाम आता है जो 10 वर्ष 4 दिनों तक देश के प्रधानमंत्री रहें। उन्होंने (22 मई 2004 से 26 मई 2014) तक प्रधानमंत्री के तौर पर देश की सेवा की।

इतिहास से झरोखे से… राष्ट्रपति भवन ...

कमेंट करें
TuyKi
NEXT STORY

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। भारत के घरेलु वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम ने आज घोषणा की है कि इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी पेटीएम मनी ने देश में सभी के लिए स्टॉकब्रोकिंग की सुविधा शुरू कर दी है। कंपनी का लक्ष्य इस वित्त वर्ष में 10 लाख से अधिक निवेशकों को जोड़ना है, जिसमें अधिकतर छोटे शहरों और कस्बों से आने वाले फर्स्ट टाइम यूजर्स होंगे। इस प्रयास का उद्देश्य उत्पाद के आसान उपयोग, कम मूल्य निर्धारण (डिलीवरी ऑर्डर पर जीरो ब्रोकरेज, इंट्राडे के लिए 10 रुपये) और डिजिटल केवाईसी के साथ पेपरलेस खाता खोलने के साथ निवेश को प्रोत्साहित करना तथा अधिक-से-अधिक लोगों तक पहुंचना है। कंपनी भारत में सबसे व्यापक ऑनलाइन वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनने के लिए प्रयासरत है, जो वित्तीय समावेशन के लक्ष्य के तहत आम लोगों तक आसानी से पहुंच सके।

पेटीएम मनी को अपने शुरुआती प्रयास में ही लोगों से भारी प्रतिक्रिया मिली और उसने 2.2 लाख से अधिक निवेशकों को अपने साथ जोड़ लिया। इनमें से, 65% उपयोगकर्ता 18 से 30 वर्ष के आयु वर्ग में हैं, जो दर्शाता है कि नई पीढ़ी अपनी वेल्थ पोर्टफोलियो का निर्माण कर रही है। टियर-1 शहरों जैसे मुंबई, बैंगलोर, हैदराबाद, जयपुर और अहमदाबाद में इस प्लेटफार्म को बड़े स्तर पर अपनाया गया है। ठाणे, गुंटूर, बर्धमान, कृष्णा, और आगरा जैसे छोटे शहरों में भी लोगों का भारी झुकाव देखने को मिला है। यह सेवा सुपर-फास्ट लोडिंग स्टॉक चार्ट्स, ट्रैक मार्केट मूवर्स एंड कंपनी फंडामेंटल्स सुविधाओं के साथ अब आईओएस, एंड्रॉइड और वेब पर उपलब्ध है। पेटीएम मनी ऐप शेयरों पर निवेश, व्यापार और सर्च के लिए प्राइस अलर्ट और एसआईपी सेट करने के लिए आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है।

इस अवसर पर पेटीएम मनी के सीईओ, वरुण श्रीधर ने कहा, "हमारा उद्देश्य वेल्थ मैनेजमेंट सेवाओं को आबादी के बड़े हिस्से तक पहुंचाना है, जो आत्मानिर्भर भारत के लक्ष्य में योगदान करेगी। हमारा मानना है कि यह मिलेनियल और नए निवेशकों को उनके वेल्थ पोर्टफोलियो के निर्माण में सक्षम बनाने का समय है। प्रौद्योगिकी पर आधारित हमारे समाधान शेयर में निवेश को सरल और आसान बनाता है। हम वर्तमान उत्पादों को चुनौती देते रहेंगे और भारत के सर्वश्रेष्ठ उत्पाद का निर्माण करते रहेंगे। हम पेटीएम मनी को सभी भारतीय के लिए एक व्यापक वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। "

इतने कम समय में पेटीएम मनी पर स्टॉक ट्रेडिंग को व्यापक रूप से अपनाया जाना काफी महत्व रखता है। यह हर भारतीय के लिए डिजिटल निवेश को आसान बनाने के कंपनी के प्रयासों की सराहना को भी दर्शाता है। शेयरों में आसान निवेश के साथ, प्लेटफॉर्म उपयोगकर्ता को बाजार के बारे में शोध करने, मार्केट मूवर्स का पता लगाने, अनुकूल वॉचलिस्ट तैयार करने और 50 से अधिक शेयरों के लिए प्राइस अलर्ट सेट करने के अवसर प्रदान करता है। इसके अलावा, उपयोगकर्ता स्टॉक के लिए साप्ताहिक / मासिक एसआईपी सेट कर सकते हैं, और स्टॉक में निवेश को आॅटोमेट कर सकते हैं। बिल्ट-इन ब्रोकरेज कैलकुलेटर के साथ, निवेशक लेनदेन शुल्क का पता लगा सकते हैं और शेयरों को लाभ पर बेचने के लिए ब्रेक-इवेन प्राइस जान सकते हैं। इसके अलावा, स्टॉक ट्रेडिंग के अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए एडवांस्ड चार्ट और अन्य विकल्प जैसे कवर चार्ट तथा ब्रैकेट ऑर्डर भी जोड़े गए हैं। इन सुविधाओं के अलावा बैंक-स्तरीय सुरक्षा के साथ निवेशकों के व्यक्तिगत डेटा को सुरक्षित रखते हुए अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।


पेटीएम मनी के बारे में
पेटीएम मनी वन97 कम्युनिकेशंस की पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी है। वन97 कम्युनिकेशंस भारत की घरेलू वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम का स्वामित्व भी रखता है। यह देश का सबसे बड़ा ऑनलाइन इंवेस्टमेंट प्लेटफार्म है, और अब इसने उपयोगकर्ताओं के लिए डायरेक्ट म्यूचुअल फंड्स और एनपीएस के अपने वर्तमान आॅफर में स्टॉक्स को भी जोड़ दिया है। पेटीएम मनी का लक्ष्य एक पूर्ण-स्टैक इंवेस्टमेंट और वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनना और लाखों भारतीयों तक धन सृजन के अवसरों को पहुंचाना है। बेंगलुरु स्थित मुख्यालय से संचालित इस कंपनी की टीम में 300 से अधिक सदस्य हैं।