comScore

संबोधन: पीएम मोदी बोले- दुनिया का सबसे युवा देश, अब तेजी से खेलने के मूड में है

February 12th, 2020 20:49 IST
संबोधन: पीएम मोदी बोले- दुनिया का सबसे युवा देश, अब तेजी से खेलने के मूड में है

हाईलाइट

  • पीएम मोदी ने पिछले आठ महीनों किए कामों को गिनाया
  • पीएम ने कहा- अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को टाइम्स नाउ कॉन्क्लेव में संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि दुनिया का सबसे युवा देश, अब तेजी से खेलने के मूड में है। केवल 8 महीने की सरकार ने फैसलों की जो सेंचुरी बनाई है, वो अभूतपूर्व है। आपको अच्छा लगेगा, आपको गर्व होगा कि भारत ने इतने तेज फैसले लिए और इतनी तेजी से काम हुआ। 

पीएम ने कहा कि आज देश दशकों पुरानी समस्याओं का समाधान करते हुए 21वीं सदी में तेजी से आगे बढ़ रहा है। दुनिया के सबसे युवा देश को जिस गति से काम करना चाहिए हम वैसे ही कर रहे हैं। जानें पीएम मोदी ने अपने संबोधन में क्या कहा...

उन्होंने कहा कि आज देश में हो रहे इन परिवर्तनों ने समाज के हर स्तर पर नई ऊर्जा का संचार किया है, उसे आत्मविश्वास से भर दिया है। आज देश के गरीब में ये आत्मविश्वास आ रहा है कि वो अपना जीवन स्तर सुधार सकता है, अपनी गरीबी दूर कर सकता है।

पीएम मोदी ने पिछले आठ महीनों किए कामों को गिनाया
पीएम मोदी ने पिछले 8 महीनों में केंद्र सरकार द्वारा किए गए कामों को गिनाया। उन्होंने कहा कि भारत ने इतने तेज फैसले लिए, तेज गति से काम किया। देश के हर किसान को पीएम किसान योजना के दायरे में लाने का डन (done)। किसान, मजदूर, दुकानदार को पेंशन देने की योजना डन (done)। पानी जैसे अहम विषय पर जल शक्ति मंत्रालय का गठन डन (done)। मध्यम वर्ग के अधूरे घरों को पूरा करने के लिए 25 हजार करोड़ रुपए का स्पेशन फंड डन (done)। दिल्ली के 40 लाख लोगों को घरों पर अधिकार देने वाला कानून डन (done)। तीन तलाक से जुड़ा कानून डन (done)। चाइल्ड एब्यूज के खिलाफ सख्त सजा का कानून डन (done)। 

अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाना है
देश की अर्थव्यवस्था को लेकर पीएम ने कहा कि अब भारत का लक्ष्य है अगले 5 साल में अपनी अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक का विस्तार देना। ये लक्ष्य आसान नहीं है, लेकिन ऐसा भी नहीं कि जिसे प्राप्त ही न किया जा सके। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए ये बहुत आवश्यक है कि भारत में मैन्यूफेक्चिरिंग बढ़े और एक्सपोर्ट बढ़े। इसके लिए सरकार ने अनेक फैसले लिए हैं। उन्होंने कहा कि आज छोटे शहरों के बड़े सपनों को नए नेशनल हाई-वे और एक्सप्रेस-वे बुलंदी दे रहे हैं। उड़ान के तहत बन रहे नए एयरपोर्ट, नए एयर रूट्स उन्हें एयर कनेक्टिविटी से जोड़ रहे हैं। सैकड़ों की संख्या में छोटे शहरों में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलवाए गए हैं।

देश में सिर्फ 1.5 करोड़ लोग इनकम टैक्स देते हैं
5 लाख तक की इनकम पर जीरो टैक्स का लाभ भी छोटे शहरों को बहुत अधिक हुआ है। MSME को बढ़ावा देने के लिए जो फैसले हमने लिए उसका लाभ भी इन्हीं शहरों के उद्यमियों को सबसे ज्यादा हुआ है। पिछले 5 साल में देश में 1.5 करोड़ से ज्यादा करों की ब्रिकी हुई है। 3 करोड़ से ज्यादा भारतीय बिजनेस के काम से या घूमने के लिए विदेश गए हैं, लेकिन स्थिति ये है कि 130 करोड़ से ज्यादा के हमारे देश में सिर्फ 1.5 करोड़ लोग ही इनकम टैक्स देते हैं। जब बहुत सारे लोग टैक्स नहीं देते, टैक्स न देने के तरीके खोज लेते हैं, तो इसका भार उन लोगों पर पड़ता है, जो ईमानदारी से टैक्स चुकाते हैं। इसलिए, मैं आज प्रत्येक भारतीय से इस विषय में आत्ममंथन करने का आग्रह करूंगा। क्या उन्हें ये स्थिति स्वीकार है?

पीएम ने समृद्ध भारत के निर्माण में मीडिया जगत से अपनी भूमिका का विस्तार करने को कहा
पीएम ने मीडिया जगत से आग्रह करते हुए कहा कि स्वतंत्र भारत के निर्माण में मीडिया की बहुत बड़ी भूमिका रही है। अब समृद्ध भारत के निर्माण में भी मीडिया को अपनी भूमिका का विस्तार करना चाहिए। एक नागरिक के तौर पर देश हमसे जिन कर्तव्यों को निभाने की अपेक्षा करता है, वो जब पूरे होते हैं, तो देश को भी नई ताकत और नई ऊर्जा मिलती है। यही नई ऊर्जा, नई ताकत, भारत को इस दशक में भी नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी।
 

कमेंट करें
nZHfN