दैनिक भास्कर हिंदी: सबरीमाला विवाद: PM मोदी का रास्ता रोकने शिर्डी जा रहीं तृप्ति देसाई हिरासत में

October 19th, 2018

हाईलाइट

  • अहमदनगर के एसपी को तृप्ति ने लिखा था पत्र
  • पीएम से मुलाकात की व्यवस्था कराने की मांग की थी
  • मुलाकात न कराने पर PM की रास्ता रोकने की दी थी धमकी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्ष और मंदिरों में महिलाओं के प्रवेश को लेकर आंदोलन चलाने वालीं तृप्ति देसाई को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। तृप्ति प्रधानमंत्री मोदी से मिलने शिर्डी जा रही थीं। बहस के बाद पुलिस ने उन्हें उठाकर कार में डाल दिया। दरअसल, साईंबाबा की समाधि के 100 साल पूरे होने पर सालभर चले महोत्सव का शुक्रवार को समापन है, जिसमें प्रधानमंत्री मोदी भी शिरकत करने वाले हैं। 

इससे पहले तृप्ति ने गुरुवार को अहमदनगर के एसपी को पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने पीएम से मुलाकात की व्यवस्था कराने की मांग की थी। तृप्ति पीएम से सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर बात करना चाहती थीं। उन्होंने धमकी भी दी थी कि पीएम से उनकी मुलाकात न कराए जाने पर वो अपने समर्थकों के साथ शिर्डी जा रहे मोदी का काफिला रोक देंगी।


तृप्ति ने बताया कि सुबह से ही उनके घर के बाहर पुलिस खड़ी हो गई थी। अपने समर्थकों के साथ जैसे ही वो घर से निकलीं, पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। तृप्ति ने कहा कि हमारी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। विरोध करना हमारा संवैधानि अधिकार है। बता दें कि केरल के सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल के बीच की महिलाओं के प्रवेश को सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दे दी है। इसके बाद भी कुछ दक्षिणपंथी संगठन, राजनैतिक पार्टियां और मंदिर प्रबंधन सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय का विरोध कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को विशेष विमान से शिर्डी के नए हवाई अड्डे पर उतरेंगे। इसके बाद हेलीकॉप्टर की मदद से पीएम को साईंबाबा संस्थान न्यास (एसएसएसटी) ले जया जाएगा। मंदिर में विशेष पूजा करने के बाद पीएम मोदी वहां विशेष झंडा भी फहराएंगे। साईंबाबा का देहावसान 1918 में अहमदनगर जिले के शिर्डी गांव में हुआ था। उनकी समाधि की शताब्दी होने पर 2018 में पूरे सालभर से मंदिर कमेटी उत्सव मना रही है, जिसका समापन आज पीएम मोदी करेंगे।

 

लोकतंत्र को दबाने की कोशिश: तृप्ति

 

 

खबरें और भी हैं...