comScore

मोदी बोले- आपातकाल लगाने वाले आज मिलकर कुर्सी झपटने की फिराक में घूम रहे हैं

June 29th, 2018 00:31 IST

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 28 जून को उत्तर प्रदेश के संत कबीरनगर आ रहे हैं।
  • पीएम मोदी कबीर दास मगहर एकेडमी की आधारशिला रखेंगे।
  • यह एकेडमी 24 करोड़ की लागत से बनने वाली है।

डिजिटल डेस्क, संत कबीरनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुरुवार दोपहर सूफी संत कबीर साहब के 620वें प्राकट्य उत्सव पर मगहर में कबीर की निर्वाण स्थली पहुंचे। पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के मगहर पहुंचकर संत कबीर की मजार पर चादर चढ़ाई और कबीर अकादमी का शिलान्यास किया। यहां पीएम मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए विरोधी दलों पर जमकर तंज कसा। पीएम ने कहा कि आपातकाल लगाने वाले और उसका विरोध करने वाले आज कंधे से कंधा मिलाकर कुर्सी झपटने की फिराक में घूम रहे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री सुबह ही लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे थे। जहां यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी की थी।

मगहर में सभा को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा....

  • हमारी सरकार गरीब, दलित, पीड़ित, शोषित-वंचित और महिलाओं को सशक्त करने के लिए काम कर रही है।
  • आपातकाल लगाने वाले और उसका विरोध करने वाले आज कंधे से कंधा मिलाकर कुर्सी झपटने की फिराक में घूम रहे हैं।
  • 14-15 वर्ष पहले जब पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम जी यहां आए थे, तब उन्होंने इस जगह के लिए एक सपना देखा था। उनके सपने को साकार करने के लिए मगहर को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र में सद्भाव-समरसता के मुख्य केंद्र के तौर पर विकसित करने का काम अब किया जा रहा है।
  • हमारी सरकार गरीब, दलित, पीड़ित, शोषित-वंचित और महिलाओं को सशक्त करने के लिए काम कर रही है
  • आपातकाल लगाने वाले और उसका विरोध करने वाले आज कंधे से कंधा मिलाकर कुर्सी झपटने की फिराक में घूम रहे हैं
  • ये हमारे देश की महान धरती का तप है, उसकी पुण्यता है कि समय के साथ, समाज में आने वाली आंतरिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए समय-समय पर ऋषियों, मुनियों और संतों का मार्गदर्शन मिला
  • संत कबीर धूल से उठे थे लेकिन माथे का चंदन बन गए
  • महात्मा कबीर ने जाति-पाति के बंधन तोड़े थे, वे सबके थे इसलिए सब उनके हो गए
  • महात्मा कबीर किसी के शिष्य नहीं, बल्कि रामानंद द्वारा चेताए हुए चेले थे
  • महात्मा कबीर विचार बनकर आए और व्यवहार बनकर अमर हो गए
  • कबीर भीतर से कोमल और बाहर से कठोर थे
  • कबीर का सारा जीवन सत्य की खोज और असत्य के खंडन में बीता। कबीर की साधना मानने से नहीं, बल्कि जानने से आरंभ होती है
  • मैं इस पावन धरती को प्रणाम करता हूं



पीएम मोदी ने चढ़ाई चादर
जानकारी के अनुसार पीएम मोदी लखनऊ से मगहर हेलीकाप्टर द्वारा पहुंचे थे। यहां पीएम मोदी ने कबीर दास मगहर एकेडमी की आधारशिला रखी। यह एकेडमी 24 करोड़ की लागत से बनने वाली है। पीएम मोदी मगहर में कबीरदास की 500वीं पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित भी किए। इसके बाद संत कबीर की मजार पर चादर चढ़ाई। साथ ही पीएम ने संत कबीर गुफा का दौरा भी किया। इसके अलावा पीएम ने कबीर अकादमी की आधारशिला के मौके पर पट्टिका का अनावरण किया।

पीएम मोदी के इस कार्यक्रम को संत कबीर नगर के अनुनायियों तक पहुंच बनाने की कवायद से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं भाजपा इस कार्यक्रम को 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर प्रचार की शुरुआत के रूप में देख रही है। बता दें कि इससे पहले भी पीएम मोदी अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में कह चुके हैं कि संत कबीर का हिंदू और मुस्लिम दोनों ही समुदाय में बड़ा सम्मान है।

बारिश ने बदला पीएम मोदी का कार्यक्रम
यूपी में लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से पीएम मोदी के कार्यक्रम में काफी बदलाव किया गया था। पहले उनका गोरखपुर से मगहर जाने का कार्यक्रम था। जहां गोरखपुर में सीएम योगी उनका स्वागत करते, लेकिन मंगलवार और बुधवार को हुई जबरदस्त बारिश से गोरखपुर एयरपोर्ट के रनवे पर पानी आ गया। इस कारण पीएम और सीएम के कार्यक्रम में बदलाव किया गया।

कमेंट करें
yNRhW