इंतजार खत्म : रानी लक्ष्मी बाई के जन्मदिन पर वायुसेना को मिलेगा तोहफा, प्रधानमंत्री मोदी सौपेंगे पहला स्वदेशी ‘लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर’

November 18th, 2021

हाईलाइट

  • 17-19 नबम्बर तक झांसी में आयोजित होगा राष्ट्रीय रक्षा समर्पण पर्व

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। झांसी की रानी लक्ष्मी बाई के जन्मदिवस (19 नवंबर) के अवसर पर प्रधानमंत्री वायु सेना को एक तोहफा देने वाले है। कल पीएम मोदी देश का अपना पहला स्वदेशी अटैक ‘लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर’ सौंपने वाले है। दरअसल, रक्षा मंत्रालय 17-19 नबम्बर तक झांसी में राष्ट्रीय रक्षा समर्पण पर्व मनाने जा रहा है, जिसके तहत सेना के कई कार्यक्रम झांसी में आयोजित होंगे।

15 साल का इंतजार हुआ खत्म
एलसीएच स्वदेशी अटैक हेलीकॉप्टर को बनाने की तैयारी करगिल युद्ध के बाद से ही शुरु हो गई थी। क्योंकि उस वक्त भारत के पास अपना किसी भी तरह का अटैक हेली कॉप्टर नहीं था, जो 15-16 हजार फीट की उंचाई पर जाकर दुश्मन के बंकर्स को तबाह कर सके। हालांकि, साल 2006 में इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई थी और पूरे 15 साल के बाद इस लाइट कॉम्बेट हेलीकॉप्टर को तैयार कर लिया गया। 

Exclusive: PM Modi will hand over indigenous 'Light Combat Helicopter' to  the Air Force tomorrow, know everything about it - The Post Reader
 

स्वदेशी अटैक हेलीकॉप्टर की खासियत

  • एलसीएच हेलीकॉप्टर का वजन बेहद हल्का है। 6 टन का ये हेलीकॉप्टर दूसरे हथियारों से लैस होकर टैकऑफ और लैंडिंग आसानी से कर सकता है।
  • इस हेलीकॉप्टर में हवा से हवा में और हवा से जमीन पर मारने वाली मिसाइल लग सकती है।
  • सबसे खास बात एलसीएच में ऐसे स्टेल्थ फीचर्स हैं कि, ये बहुत आसानी से किसी भी दुश्मन की रडार में पकड़ नहीं आएगा। 
  • अगर दुश्मन ने या किसी फाइटर जेट ने अपनी मिसाइल एलसीएच में लॉक करने की कोशिश भी की तो, ये उसे चकमा दे देगा।
  • इसका ट्रायल सियाचिन ग्लेशियर से लेकर राजस्थान के रेगिस्तान तक हो चुका है।