दैनिक भास्कर हिंदी: नेशनल डॉक्टर्स डे: पीएम मोदी ने डॉक्टर्स से कहा- डटे रहो खतरा अभी टला नहीं, फ्रंट लाइन वर्क्स को किया सलाम

July 1st, 2021

हाईलाइट

  • मैं 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से सभी डॉक्टर्स को धन्यवाद देता हूं-पीएम मोदी
  • डटे रहो खतरा अभी टला नहीं, फ्रंट लाइन वर्क्स को किया सलाम- पीएम मोदी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेशनल डॉक्टर्स डे पर देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा, मैं 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से सभी डॉक्टर्स को धन्यवाद देता हूं, आभार प्रकट करता हूं। डॉक्टर्स को ईश्वर का दूसरा रूप कहा जाता है। कई बार ऐसा लगने लगता है कि क्या हम किसी हमारे अपने को खो देंगे, लेकिन डॉक्टर्स ऐसे मौकों पर किसी देवदूत की तरह जीवन की दिशा बदल देते हैं।

पीएम मोदी ने कहा, आज जब देश कोरोना से जंग लड़ रहा है तो डॉक्टर्स ने दिन रात मेहनत करके लाखो लोगों का जीवन बचाया है। ये पुण्य कार्य करते हुए देश के कई डॉक्टर्स ने अपना जीवन न्योछावर कर दिया। मैं जीवन आहूत करने वाले सभी डॉक्टर्स को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। आप भली भांति जानते हैं कि पहले के समय में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को किस तरह नजरअंदाज किया गया था। हमारे देश में जनसंख्या का दबाव इस चुनौती को और कठिन बना देता है। 

पीएम मोदी ने कहा, इतने दशकों में जिस तरह का मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर देश में तैयार हुआ था, उसकी सीमाएं आप भलीभांति जानते हैं। पहले के समय में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को किस तरह नजरअंदाज किया गया था, उससे भी आप परिचित हैं। आज देश में तेजी से नए AIIMS खोले जा रहे हैं, नए मेडिकल कॉलेज बनाएं जा रहे हैं, आधुनिक हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा किया जा रहा है।2014 तक देश में केवल 6 AIIMS थे, वहीं इन 7 वर्षों में 15 नए AIIMS का काम शुरू हुआ। मेडिकल कॉलेज की संख्या भी लगभग डेढ़ गुना बढ़ी है।

पीएम मोदी ने कहा, इसी का परिणाम है कि इतने कम समय में जहां अंडरग्रेजुएट seats में डेढ़ गुने से ज्यादा की वृद्धि हुई है, पीजी seats में 80 फीसदी इजाफा हुआ है। आप डॉक्टर्स की सेवा, आपका अनुभव 'सर्वे भवन्तु सुखिनः' के हमारे संकल्प को अवश्य सिद्ध करेगा। हमारा देश कोरोना से भी जीतेगा और विकास के नए आयाम को भी हासिल करेगा। जितनी बड़ी संख्या में आप मरीजों की सेवा और देखभाल कर रहे हैं, उसके हिसाब से आप पहले से ही दुनिया में सबसे आगे हैं। ये समय यह भी सुनिश्चित करने का है कि आपके काम का, आपकी Scientific studies का दुनिया संज्ञान ले और आने वाली पीढ़ी को उसका लाभ भी मिले।

पीएम मोदी ने कहा, बावजूद इसके कोरोना के दौरान हम प्रति लाख जनसंख्या में संक्रमण, मृत्यु दर देखें तो भारत की स्थिति बड़े बड़े विकसित और समृद्ध देशों की तुलना में कहीं संभली हुई रही है। किसी एक जीवन का असमय समाप्त होना उतना ही दुखद है, लेकिन भारत ने कोरोना से लाखों का जीवन बचाया भी है। हमारी सरकार ने डॉक्टर्स के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए पिछले वर्ष ही कानून में कई कड़े प्रावधान किए। इसके साथ ही हम अपने कोविड वारियर्स के लिए फ्री इंश्योरेंस कवर स्कीम भी लेकर आए हैं। 

 

खबरें और भी हैं...