दैनिक भास्कर हिंदी: आदित्य होंगे महाराष्ट्र के CM ! मातोश्री के बाहर लगे पोस्टर My MLA My CM

November 5th, 2019

हाईलाइट

  • मातोश्री के बाहर लगे पोस्टर
  • आदित्य ठाकरे को सीएम के तौर पर पेश कर लगाया गया
  • पोस्टर पर लिखा-मेरा विधायक,मेरा मुख्यमंत्री

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव परिणाम आए दो हफ्ते हो गए है। मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच तकरार जारी है। शिवसेना जहां 50-50 फॉर्मूले पर अढ़ी है। वहीं बीजेपी किसी भी फॉर्मूले को मानने से इनकार कर रही है। इसबीच मुंबई में ठाकरे आवास मातोश्री के बाहर एक पोस्टर लगाया गया है। पोस्टर में शिवसेना विधायक आदित्य ठाकरे की फोटो के साथ लिखा है-मेरा विधायक,मेरा मुख्यमंत्री। यह पोस्टर शिवसेना के कॉर्पोरेटर हाजी हलीम खान ने लगवाए हैं।

हालांकि कुछ दिन पहले हुई विधायक दल की बैठक में खुद आदित्य ठाकरे ने विधायक दल का नेता चुनने के लिए एकनाथ शिंदे का नाम प्रस्तावित किया था। सर्वसम्मति के बाद एक नाथ शिंदे को विधायक दल का नेता चुना गया था। तब यह स्पष्ट हो गया था कि आदित्य ठाकरे महाराष्ट्र के सीएम नहीं होंगे। लेकिन उनके समर्थक आज भी उन्हें ही मुख्यमंत्री के रुप में देखना चाहते है। 

 

 

शरद ने की सोनिया गांधी से मुलाकात
सीएम पद को लेकर चल रही खींचतान के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच महाराष्ट्र के राजनीतिक हालातों पर चर्चा हुई। सोनिया के साथ बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए पवार ने कहा, 'मैंने कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात की। उन्हें महाराष्ट्र के मौजूदा राजनीतिक हालात के बारे में बताया। शिवसेना को समर्थन देने के मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई। उन्होंने कहा कि हमें आगे कैसे बढ़ना है, इसपर चर्चा हुई। जिनके पास नंबर है वो सरकार बनाए। पवार ने कहा सरकार बनाने के लिए हमारे पास पर्याप्त संख्या नहीं है। बीजेपी और शिवसेना दोनों मजबूत सहयोगी रहे हैं।  

जल्द बनेगी सरकारी
वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। मुलाकात के बाद फडणवीस ने कहा कि सत्ता के समीकरण में कौन क्या कह रहा है इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा। कौन क्या बोलता है, मैं इस पर कुछ नहीं कह सकता। कई लोग कह रहे हैं लेकिन बीजेपी इस पर कुछ नहीं कहेगी। महाराष्ट्र में जल्द सरकार बनेगी, हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं।

गठबंधन नहीं करना चाहिए
इस बीच महाराष्ट्र पर्यटन और एफडीए मंत्री जयकुमार रावल का भी एक बयान सामने आया। रावल ने कहा, 'पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को गठबंधन शिवसेना के साथ नहीं करना चाहिए। हमें फिर से मौका दें, हम फिर से चुनाव लड़ेंगे और इस बार जीतेंगे।' उन्होंने कहा, 'पार्टी में कई लोग नाराज हैं क्योंकि हम कुछ सीटों पर शिवसेना के साथ संधि के कारण नहीं लड़ सकते थे और कुछ क्षेत्रों में बेहद कम मार्जिन से हार गए।