comScore

सांसद साध्वी प्रज्ञा की कांग्रेस विधायक को चुनौती, कहा- आ रही हूं ब्यावरा, मुझे जला देना

सांसद साध्वी प्रज्ञा की कांग्रेस विधायक को चुनौती, कहा- आ रही हूं ब्यावरा, मुझे जला देना

हाईलाइट

  • सांसद साध्वी प्रज्ञा के ब्यावरा विधायक गोवर्धन दांगी को चुनौती
  • प्रज्ञा ने कहा- मैं 8 दिसंबर को आ रही हूं ब्यावरा

डिजिटल डेस्क, भोपाल। गोडसे विवाद पर चौतरफा घिरीं भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का विवादों से पीछा छूटने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन वे अपने विवादित बयानों से मीडिया में चर्चा का विषय बनीं हुईं हैं और कांग्रेस नेताओं के साथ उनकी बयानबाजी लगातार चल रही है। अब भा​जपा सांसद ने कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी को चुनौती देते हुए कहा है कि मैं 8 दिसंबर को ब्यावरा आउंगी, मुझे जला लीजिए।

साध्वी प्रज्ञा ने शनिवार को अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, कांग्रेसियों को जिंदा जलाने का पुराना अनुभव है, 1984 मैं सिखों को और नैना साहनी को तंदूर में जलाने तक का। @RahulGandhi ने आतंकी कहा और उनके विधायक गोवर्धन दांगी मुझे जलाएंगे। ठीक है तो मैं आ रही हूं ब्यावरा उनके निवास मुल्तानपुरा पर 8 दिसंबर 2019 समय सायं 4 बजे, जला लीजिए।

गौरतलब है कि लोकसभा में भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के गोडसे को देशभक्त कहने पर राजनीतिक गलियारों में तूफान मच गया था। विपक्षी पार्टियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह से प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन इस बीच कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर को जिंदा जलाने की धमकी दे डाली थी।

दरअसल मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने कहा था कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर यहां आईं तो जिंदा जला देंगे। कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी लोकसभा में प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा दिए गए बयान के खिलाफ अपनी विधानसभा ब्यावरा में प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन के दौरान विधायक और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर का पुतला भी जलाया था और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

गोवर्धन दांगी के बयान पर बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी पलटवार किया था और गोवर्धन दांगी से माफी मांगने को कहा था।

दांगी के बयान के वीडियो को ट्वीट कर प्रज्ञा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि- यह हैं कांग्रेस के विधायक गोवर्धन दांगी, दिग्विजय सिंह के खास, राहुल गांधी के विचारों के पोषक और कमलनाथ सरकार के पैरोकार, अहिंसा के पुजारी। 

हालांकि दांगी अपनी विवादास्पद टिप्पणी के लिए माफी मांग चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह एक गलती थी। विवाद के बाद दांगी ने सफाई देते हुए कहा कि मैं महात्मा गांधी के सिद्धांतों का पालन करता हूं और अपने बयान माफी मांगता हूं। बता दें की जहां एक ओर साध्वी प्रज्ञा के बयान पर उनकी निंदा की जा रही है। वहीं साध्वी के खिलाफ कांग्रेस विधायक के बयान को महिला विरोधी बताया जा रहा है और विधायक दांगी की सोशल मीडिया पर कड़े शब्दों में निंदा की जा रही है। 

वहीं, प्रज्ञा सिंह द्वारा लोकसभा में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले वक्तव्य पर विपक्ष ने भारी हंगामा किया था, जिसके बाद शुक्रवार को प्रज्ञा ठाकुर ने माफी मांग ली। लोकसभा में उन्होंने कहा कि मैंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा, फिर भी अगर किसी को ठेस पहुंचती है तो क्षमा चाहती हूं।

कमेंट करें
vkgMK