ओमिक्रोन का खतरा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक, आज करेंगे कोविड हालात की समीक्षा

December 23rd, 2021

हाईलाइट

  • ओमिक्रोन पर हाई लेवल कमेटी
  • 15 राज्यों में दस्तक जे चुका कोरोना का नया वेरिएंट

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने  देश में लगातार बढ़ते ओमिक्रोन के खतरे के बीच आज कोविड-19 स्थिति की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। आज यानी गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने देश में कोरोना की स्थिति को लेकर अधिकारियों की बैठक बुलाई है, स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक ओमिक्रोन कोरोना की अपेक्षा तीन गुना तेजी से फैलता है और इसलिए अब सावधानी रखने का वक्त आ चुका है।  

आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी बैठक बुलाई है। उम्मीद जताई जा रही है कि बैठक के बाद दिल्ली के लिए वे नए दिशानिर्देश जारी करेंगे।

लेकिन इस खतरे के बाद भी देश में सावधानी नहीं दिख रही। यही वजह है कि  केंद्र ने भी राज्यों को तीसरी लहर रोकने के लिए राज्यों का हिदायत देते हुए चिट्ठी लिखी और कहा है कि स्थानीय प्रशासन  नए वेरिएंट को रोकने के जरूरी कदम उठाएं।  देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की बढ़ती रफ्तार ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

केंद्र सरकार की ओर से मंगलवार को कहा था कि देश में ओमीक्रोन के मामलों मे वृद्धि के मद्देनजर आवश्यक कदम उठाने की जरूरत है और नाइट कर्फ्यू पर विचार करने की जरूरत है। 

ऐसे में सवाल ये भी उठ रहा है कि क्रिसमस, न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर क्या फैसला होगा? क्या फिर से कड़े कदम उठाए जाएंगे? ओमिक्रोन से बचाव के लिए सरकार क्या कदम उठाने जा रही है?  बूस्टर डोज पर क्या फैसला होगा? क्या बच्चों को वैक्सीनेशन पर कोई फैसला होगा?

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जीनोम सिक्वेंसिंग के जरिए अब तक ओमिक्रोन के 247 मामलों का पता चल चुका है। दिल्ली में 57 मामले सामने आए हैं जबकि महाराष्ट्र में  सबसे अधिक 65, तेलंगाना में 24, कर्नाटक में 19, राजस्थान में 22, केरल में 9 और गुजरात में 23, हरियाणा में 1 मामले ओमिक्रोन के दर्ज किए गए हैं। अब तक देश के 15 राज्यों में ओमिक्रोन के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं गुजरात में बुधवार को ओमिक्रॉन के नौ मामले सामने आए हैं। गुजरात में कुल 23 केस दर्ज हो चुके हैं।