दैनिक भास्कर हिंदी: मरीज़ को फीस का हिसाब देंगे प्राइवेट अस्पताल

July 27th, 2017

डिजिटल, भोपाल.  प्रायवेट अस्पताल में इलाज करवा रहे मरीज़ों को राहत मिलने की संभावना है,क्योंकि राज्य सरकार नर्सिंग होम एक्ट में बदलाव करने जा रही है. 

इस बदलाव के बाद निजी अस्पताल इलाज के नाम पर मरीज़ से एक मुश्त पैसों की मांग नहीं कर सकते. पैसा लेते समय उन्हें मरीज़ को बताना होगा कि वे किस सेवा के लिए कितनी फीस ली जा रही है. इसके अलावा इस संशोधन के बाद एमपी के सभी निजी अस्पतालों का बिलिंग पैटर्न एक जैसा होगा. अभी ज्यादातर निजी अस्पताल मरीजों को यह नहीं बताते कि उनसे किस सेवा के लिए कितनी फीस ली जा रही है और मरीज से इकठ्ठा पैसा जमा करा लिया जाता है. हालाँकि राज्य के बड़े अस्पताल इन शर्तों को मानने के लिए तैयार नहीं हैं. इस बदलाव के बाद प्रायवेट अस्पताल संचालक और सरकार के बीच तक़रार बढ़ सकती हैं.