दैनिक भास्कर हिंदी: बोट के बाद अब ट्रेन से अयोध्या जाएंगी प्रियंका, ट्वीट कर योगी सरकार को घेरा

March 25th, 2019

हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव 2019: मिशन यूपी पर प्रियंका गांधी।
  • बोट यात्रा के बाद अब ट्रेन से दिल्ली से अयोध्या तक सफर करेंगी प्रियंका। 
  • ट्वीट कर योगी सरकार साधा निशाना।
  • बीजेपी नेता टीशर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त हैं, असल मुद्दों पर ध्यान नहीं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के मद्देनगर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लगातार उत्तर प्रदेश का दौरा कर रही हैं। कांग्रेस का जनाधार मजबूत करने में जुटीं प्रियंका गांधी एक बार फिर उत्तर प्रदेश में होंगी। बोट यात्रा के जरिए चुनाव अभियान का आगाज करने के बाद अब प्रियंका गांधी ट्रेन से अयोध्या तक सफर करेंगी। प्रियंका 27 मार्च को दिल्ली से फैजाबाद के बीच रेल यात्रा करेंगी। यात्रा से पहले प्रियंका ने ट्वीट कर योगी सरकार पर निशाना भी साधा है।


अयोध्या में रोड शो करेंगी प्रियंका
प्रियंका गांधी 27 मार्च को भगवान राम की नगरी अयोध्या की यात्रा के दौरान हनुमान गढ़ी जाएंगी। अयोध्या में वो रोड शो भी करेंगी। उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति के सचिव राजेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया, प्रियंका गांधी दिल्ली से कैफियत एक्सप्रेस से फैजाबाद के लिये रवाना होंगी। फैजाबाद रेलवे स्टेशन के पास ही थोड़ी देर होटल में रुकने के बाद वह सुबह 10 बजे अयोध्या में रोड शो करेंगी। हनुमानगढ़ी से रोड शो की शुरुआत होगी और लगभग 50 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद रोड शो कुमारगंज में समाप्त होगा। इस दौरान प्रियंका स्थानीय लोगों से मिलेंगी और फैजाबाद में दो जनसभाओं को भी संबोधित करेंगी। वह एक स्थानीय स्कूल में बच्चों से भी मिलेंगी।


ट्वीट कर योगी सरकार को घेरा
वहीं मिशन उत्तर प्रदेश में जुटी प्रियंका गांधी इन दिनों सूबे की योगी सरकार पर निशाना साध रही हैं। उन्होंने पिछले 24 घंटे में ट्वीट कर कई मुद्दो पर योगी सरकार को घेरा है। उन्होंने #Sanchibaat के साथ किसानों, शिक्षामित्रों, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मुद्दा उठाया है। 
 

 

प्रियंका गांधी ने शिक्षामित्रों के एक समूह से मुलाकात के बाद ट्वीट कर कहा, उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों की मेहनत का रोज़ अपमान होता है, सैकड़ों पीड़ितों ने आत्महत्या कर डाली। जो सड़कों पर उतरे सरकार ने उन पर लाठियां चलाई, रासुका दर्ज किया। बीजेपी के नेता टीशर्टों की मार्केट्टिंग में व्यस्त हैं, काश वे अपना ध्यान दर्दमंदों की ओर भी डालते। 
 

 

एक ट्वीट में उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाएं राज्य कर्मचारी का दर्जा मांग रही हैं। बीजेपी सरकार ने उनकी पीड़ा सुनने के बजाय उन पर लाठियां चलवाई। मेरी बहनों का संघर्ष, मेरा संघर्ष है।
 

 

प्रियंका ने कहा, उत्तर प्रदेश की आशाकर्मी 9 महीनों के लिए एक गर्भवती महिला के स्वास्थ की जिम्मेदारी उठाती हैं जिसके लिए उन्हें मात्र 600 रुपए मिलते हैं। बीजेपी सरकार ने कभी उनकी मानदेय में बढ़ोतरी की सुध नहीं ली। उन्हें जुमले नहीं, जवाब चाहिए।

 

बता दें कि प्रियंका गांधी ने रविवार को गन्ना किसानों का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा था, गन्ना किसानों के परिवार दिनरात मेहनत करते हैं, लेकिन यूपी सरकार उनके भुगतान का भी जिम्मा नहीं लेती। किसानों का 10,000 करोड़ बकाया मतलब उनके बच्चों की शिक्षा, भोजन, स्वास्थ्य और अगली फसल सबकुछ ठप्प हो जाता है। यह चौकीदार सिर्फ अमीरों की ड्यूटी करते हैं, गरीबों की इन्हें परवाह नहीं।