comScore

यूरोप दौरे पर राहुल गांधी बोले- मैं पीएम बनने के सपने नहीं देखता

August 26th, 2018 16:25 IST
यूरोप दौरे पर राहुल गांधी बोले- मैं पीएम बनने के सपने नहीं देखता

हाईलाइट

  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों यूरोप दौरे पर हैं।
  • राहुल गांधी ने कहा कि फिलहाल वे पीएम बनने के सपने नहीं देखते हैं।
  • डोकलाम विवाद और ट्रिपल तलाक को लेकर भी राहुल ने मोदी सरकार को जमकर घेरा

डिजिटल डेस्क, लंदन। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों यूरोप दौरे पर हैं। इसी दौरे के तहत वे लंदन भी पहुंचे। यहां उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्र सरकार, भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) को जमकर आड़े हाथ लिया। कभी उन्होंने आरएसएस की तुलना सुन्नी संगठन से की, तो कभी उन्होंने मोदी सरकार की विदेश नीतियों को बेकार बता दिया। इसी दौरान जब उनसे पीएम उम्मीदवारी का सवाल किया, तो उन्होंने जवाब में कहा कि फिलहाल वे पीएम बनने के सपने नहीं देखते हैं।

लंदन में राहुल गांधी ने इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के साथ बात कर रहे थे। इसी दौरान राहुल से पूछा गया कि क्या वे खुद को भारत के अगले प्रधानमंत्री के रूप में देखते हैं? इस पर राहुल ने कहा, 'मैं यह सपना नहीं देखता। फिलहाल मैं इस बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं खुद को एक वैचारिक लड़ाई लड़ने वाले के रूप में देखता हूं। यह परिवर्तन मेरे अंदर वर्ष 2014 के बाद आया। मुझे यह महसूस हुआ कि जिस तरीके से भारत में घटनाएं हो रही है, उससे भारत और भारतीयता पर खतरा मंडरा रहा है। मुझे इससे देश की रक्षा करनी है।'

डोकलाम विवाद पर खुलकर बोले राहुल
राहुल गांधी ने डोकलाम विवाद को लेकर कहा कि कोई आता है, आपके चेहरे पर तमाचा लगाता है और आप नॉन अजेंडा बातचीत करते हैं। राहुल ने यह बात वुहान में पीएम मोदी और शी चिनफिंग के बीच हुई अनौपचारिका वार्ता को लेकर निशाना साधते हुए कही। उन्होंने कहा कि संसदीय विशेषाधिकार की वजह से वह डोकलाम पर संसदीय समिति में हुई चर्चा की जानकारी नहीं दे सकते। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि डोकलाम पर उनकी बात विदेश सचिव और रक्षा सचिव से हुई थी, लेकिन समिति के अंदर बात की जानकारी यहां नहीं दी जा सकती।

राहुल ने दिया ट्रिपल तलाक बिल पर जवाब
डोकलाम के अलावा भी राहुल गांधी ने ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों पर पूछे गए सवालों के जवाब भी बड़ी बेबाकी के साथ दिए। राहुल ने कहा कि हम ट्रिपल तलाक बिल को नहीं रोक रहे हैं, लेकिन इसमें अपराधीकरण के पहलू को लेकर हमारे कुछ सवाल हैं।

कमेंट करें
zbkSD
कमेंट पढ़े
Tisi August 26th, 2018 04:07 IST

Ye Rahul Gandhi he... Etna jan liya ab ye khte kya he eske bare me koi indian sochta hoga... Or fir khta hoga ki ye hi vo Rahul Gandhi he... Jo sb jante he...

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।