दैनिक भास्कर हिंदी: कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल लेंगे CWC की मीटिंग, इन मुद्दों पर हो सकती है बात

December 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस के प्रेसिडेंट बनने के बाद राहुल गांधी शुक्रवार को पहली बार कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की मीटिंग लेंगे। इससे पहले भी राहुल, सोनिया गांधी की गैरमौजूदगी में CWC की मीटिंग ले चुके हैं, लेकिन इस बार हालात बदल गए हैं। राहुल अब खुद कांग्रेस प्रेसिडेंट बन गए हैं और बतौर पार्टी चीफ ये उनकी पहली मीटिंग है। नई दिल्ली में मौजूद पार्टी हेडक्वार्टर में ये मीटिंग होनी है, जिसमें पार्टी अपना एजेंडा तय करेगी।


किन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा? 

रिपोर्ट्स की मानें, तो राहुल गांधी इस मीटिंग में पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह पर पीएम मोदी के किए गए कमेंट पर चर्चा हो सकती है। संसद में भी विपक्ष प्रधानमंत्री मोदी से माफी की मांग पर अड़ा हुआ है, लेकिन अभी तक पीएम मोदी या बीजेपी की तरफ से इस पर कोई जवाब नहीं आया है। हालांकि विपक्षी नेता अरुण जेटली से इस मामले में मुलाकात कर चुके हैं। इसके साथ ही गुरुवार को 2G स्पेक्ट्रम पर आए कोर्ट के फैसले पर भी CWC मीटिंग में चर्चा हो सकती है।

 

Image result for RAHUL GANDHI CWC

 



2G मामले को जनता के बीच ले जाएगी कांग्रेस

रिपोर्ट्स की मानें तो राहुल गांधी CWC मीटिंग में गुरुवार को आए 2G स्पेक्ट्रम फैसले पर चर्चा करेंगे। बताया जा रहा है कि कांग्रेस 2G घोटाले पर आए कोर्ट के फैसले को भुनाना चाहती है और इसे जनता के बीच ले जाना चाहती है। कांग्रेस ऐसा इसलिए कर रही है, क्योंकि 2G स्पेक्ट्रम के मुद्दे को 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने कांग्रेस के खिलाफ जोरदार अभियान चलाया था। इससे सबसे ज्यादा नुकसान पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह की छवि को हुआ था। इसके साथ ही गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनावी नतीजों पर भी इस मीटिंग में मंथन हो सकता है।

16 तारीख को राहुल ने संभाली है कमान

बता दें कि राहुल गांधी ने बतौर कांग्रेस प्रेसिडेंट 16 दिसंबर को पार्टी की कमान संभाली है। उन्हें पार्टी की कमान उनकी मां और 19 सालों तक कांग्रेस प्रेसिडेंट रही सोनिया गांधी ने सौंपी। हालांकि राहुल गांधी 11 दिसंबर को ही पार्टी के प्रेसिडेंट बन गए थे, लेकिन चुनावों में बिजी होने के कारण 16 दिसंबर को उन्होंने पार्टी की कमान संभाली। इससे पहले 4 दिसंबर को राहुल गांधी ने पार्टी प्रेसिडेंट के लिए नॉमिनेशन फाइल किया था।

नेहरू-गांधी परिवार के 6वें शख्स हैं राहुल

कांग्रेस के प्रेसिडेंट बनते ही राहुल गांधी नेहरू-गांधी परिवार के 6वें शख्स बन गए हैं, जो इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। उनसे पहले इस परिवार से मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी इस पद को संभाल चुकी हैं। बता दें कि राहुल से पहले उनकी मां सोनिया गांधी 19 साल से इस पद को संभाल रहीं हैं। अपने पति और फॉर्मर प्राइम मिनिस्टर राजीव गांधी की मौत के 7 साल बाद यानी 1998 में कांग्रेस प्रेसिडेंट बनीं थीं।

सबसे ज्यादा समय तक सोनिया रहीं अध्यक्ष
 
कांग्रेस की प्रेसिडेंट के रूप में सबसे ज्यादा समय तक सोनिया गांधी रहीं हैं। अपने पति और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मौत के 7 साल बाद यानी 1998 में सोनिया कांग्रेस की प्रेसिडेंट बनीं थीं। इसके बाद 19 साल तक सोनिया इस पद पर रहीं हैं। अब राहुल गांधी इस पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। 132 साल पुरानी कांग्रेस पार्टी में 45 साल तक कांग्रेस की कमान नेहरू-गांधी परिवार ने ही संभाली है। सोनिया से पहले जवाहरलाल नेहरू 11 साल तक इस पद पर रहे। उनके बाद इंदिरा गांधी 7 साल, राजीव गांधी 6 साल और मोतीलाल नेहरू 2 साल तक कांग्रेस प्रेसिडेंट रहे।