दैनिक भास्कर हिंदी: कठुआ-उन्नाव रेप केस: अाधी रात को इंडिया गेट पर राहुल गांधी का कैंडल मार्च

April 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उन्नाव और कठुआ रेप मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को रात 12 बजे इंडिया गेट पर कैंडल मार्च निकाला। राहुल के साथ इस मार्च में उनकी बहन प्रियंका गांधी, पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद, सलमान खुर्शीद, अहमद पटेल, अंबिका सोनी, अशोक गहलोत, शोभा ओझा, रणदीप सुरजेवाला समेत दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तमाम नेता भी शामिल हुए। कांग्रेस के कैंडल मार्च में निर्भया के माता पिता भी शामिल हुए।

बता दें कि राहुल गांधी ने इस कैंडल मार्च के लिए ट्वीट किया था, जिसके बाद दिल्ली के कई लोग इंडिया गेट पर पहुंचे। राहुल ने लिखा था, 'लाखों भारतीयों की तरह मेरे दिल को भी चोट पहुंची है। भारत अपनी महिलाओं के साथ इस तरह का बर्ताव और आगे जारी नहीं रख सकता है। हिंसा और न्याय की मांग के लिए आज रात मेरे साथ शांति पूर्ण कैंडलमार्च के लिए इंडिया गेट पर आइए।'

 


 

 

मार्च के दौरान राहुल ने क्या कहा

 

  • ये पूरे देश का मुद्दा है। ये राजनीतिक मुद्दा नहीं है। सरकार को इस बारे में सोचना चाहिए। 
  • हम सरकार को संदेश देना चाहते हैं कि इस मार्च को राजनीतिक न समझें, बल्कि इसे आमजन की आवाज मानें।
  • आज हिंदुस्तान की महिलाएं बाहर निकलने से डरने लगी हैं।
  • बच्चियों और महिलाओं के साथ हिंसा और बलात्कार के मामले सामने आ रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है। 
  • महिलाओं के खिलाफ जो अत्याचार हो रहा है उसके खिलाफ केंद्र सरकार को कुछ करना चाहिए।


कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्नाव रेप मामले के अलावा कठुआ में बच्ची से हुए गैंगरेप और उसकी हत्या पर भी सरकार पर सवाल उठाए थे। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, 'उन्हें सजा दिए बिना छोड़ा नहीं जा सकता है।' राहुल गांधी ने इस संबंध में की जा रही राजनीति की भी जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा, 'इस तरह का पाप करने वाले दोषियों को कोई कैसे संरक्षण कर सकता है।'



 

गौरतलब है कि, बक्करवाल समुदाय की एक बच्ची जम्मू कश्मीर के कठुआ में रासना गांव स्थित अपने घर के पास से 10 जनवरी को लापता हो गई थी। एक हफ्ते बाद उसी इलाके में उसका शव मिला था। घटना की जांच के लिए गठित एक विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने दो विशेष पुलिस अधिकारियों (एसपीओ) और एक हेड कांस्टेबल सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। इन पुलिसकर्मियों पर साक्ष्य नष्ट करने का आरोप है।

 

 

 

बता दें कि इस मामले में बॉलीवुड जगत के अलावा खेल हस्तियों ने भी लड़की के इंसाफ के लिए आवाज उठाई है। अभिनेता रितेश देशमुख ने ट्वीट कर कहा, 'एक 8 साल की बच्ची को नशीली दवाएं देकर बलात्कार किया गया और फिर हत्या कर दी गई, दूसरी ओर अपने लिए और पुलिस हिरासत में अपने पिता की मौत के लिए न्याय मांग रही है। हमारे पास दो ही विकल्प हैं या तो आवाज उठाएं या फिर मूकदर्शक बने रहें। जो सही है उसके लिए स्टैंड लीजिए चाहे आप अकेले ही क्यों न खड़े हों।'

 

 

 

 




इसके अलावा अभिषेक बच्चन ने भी पीड़िता के लिए न्याय की मांग की है।

 

 

 

टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने ट्वीट में लिखा है, 'क्या हम इस एक ऐसे देश के रूप में विश्व में पहचान बनाना चाहते हैं? अगर आज हम जेंडर, जाति, रंग और धर्म से परे इस 8 साल की बच्ची के लिए साथ खड़े नहीं हो सकते तो फिर कभी किसी चीज के लिए खड़े नहीं हो पाएंगे।। इंसानियत के लिए भी नहीं। यह खबर मुझे बीमार बना रही है।'