दैनिक भास्कर हिंदी: रेलवे में 4 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार, सवर्ण आरक्षण भी होगा लागू

January 23rd, 2019

हाईलाइट

  • रेलवे में निकलेगी 2.25-2.50 लाख अतिरिक्त वेकैंसी।
  • रेलवे भर्ती के पहले चरण में 31 हजार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकशन फरवरी या मार्च में जारी होगें
  • दूसरे चरण में 99 हजार पदों पर भर्ती के लिए मई-जुन 2020 में नोटिफिकेशन जारी किए जाएगें।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार 4 लाख लोगों को रेलवे में नौकरी देने जा रही है। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को इसका ऐलान किया।इन पदों के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग वाला नया 10 प्रतिशत का कोटा भी लागू होगा। रेलवे 2.25-2.50 लाख अतिरिक्त वेकैंसी निकालेगा जबकि 1.5 लाख लोगों की भर्ती का काम पहले से ही चल रहा है। बता दें कि पिछले दिनों एक आरटीआई के जवाब में रेलवे ने बताया था कि 2008 से 2018 तक जितने लोग रिटायर हुए उनसे कम ही लोगों को रोजगार दिया गया। इसी वजह से रेलवे में करीब 3 लाख पद खाली हैं। 

पीयूष गोयल ने कहा, '2.25-2.50 लाख लोगों को और अधिक मौका मिले, 1.50 लोगों की भर्ती का काम चल रहा है। एक प्रकार से 4 लाख नई नौकरियां रेलवे अकेले देने जा रहा है, जिसमें 1.50 की प्रोसेस बहुत आगे बढ़ चुकी है, करीब 2-2.5 महीने में प्रोसेस खत्म हो जाएगा।' पीयूष गोयल ने बेरोजगारी को लेकर पिछली सरकार पर निशाना भी साधा। रेल मंत्री ने कहा कि यदि पिछली सरकारों ने आज की तरह रेल में निवेश किया होता तो आज जिस तकलीफ में हम है, वो तकलीफ नहीं होती। पिछली सरकारें राजैनेतिक कारणों से लाइनें लगाना तय करती थी। वहीं हमारी सरकार ने जरुरत के हिसाब से और फोकस करते हुए योजना बद्ध तरीके से काम किया है।

 

 

रेलवे भर्ती के पहले चरण में 31 हजार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन फरवरी या मार्च में जारी करेगा, जबकि दूसरे चरण में 99 हजार पदों पर भर्ती के लिए मई-जुन 2020 में नोटिफिकेशन जारी किए जाएगें। बता दें कि साल 2016-17 में रेलवे में कुल 13,08,323 कर्मचारी थे जबकि 2008-09 में 13,86,011 कर्मचारी थे। यानी 8 साल में 77,688 कर्मचारी कम हो गए। रेलवे के मुताबिक जनवरी 2018 में ग्रुप सी और डी के 2,66,790 जगहें खाली थीं। इनमें ग्रुप A और B की रिक्तियां शामिल नहीं हैं। 

खबरें और भी हैं...