दैनिक भास्कर हिंदी: राजस्थान : वसुंधरा की कैबिनेट में होगा फेरबदल, दो डिप्टी सीएम बनाए जाने की चर्चा

March 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान उपचुनावों में मिली हार के बाद अब सीएम वसुंधरा राजे और बीजेपी सोशल इंजीनियरिंग करने में जुट गई है। इसके लिए राजे सरकार में कैबिनेट में जल्द ही बड़ा फेरबदल देखने को मिल सकता है। इसके लिए वसुंधरा राजे ने 15 मार्च को ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात की थी। इसके अलावा सीएम वसुंधरा कैबिनेट में फेरबदल को लेकर RSS नेताओं से भी बातचीत कर रही हैं। माना जा रहा है कि एक हफ्ते के अंदर राजस्थान सरकार में बड़ा फेरबदल देखने को मिल सकता है। इसमें कई बड़े चेहरों को शामिल किया जा सकता है, तो वहीं कई चेहरों की छुट्टी भी हो सकती है।

अमित शाह से मुलाकात के बाद RSS नेताओं से बात

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएम वसुंधरा राजे गुरुवार को दिल्ली पहुंची थीं, जहां उन्होंने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में राजे ने कैबिनेट में फेरबदल का मुद्दा उठाया था। इसके बाद शुक्रवार को राजे जयपुर जहां और शाम को RSS नेताओं से मुलाकात की। सीएम वसुंधरा राजे शुक्रवार शाम को ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय भारती भवन पहुंची। यहां उन्होंने क्षेत्र प्रचारक दुर्गादास और सह-क्षेत्र प्रचारक निंबाराम से कैबिनेट में फेरबदल को लेकर बात की। इससे पहले माना जा रहा था कि 18 मार्च को कैबिनेट में फेरबदल हो सकता है, लेकिन अभी तक राज्यपाल को इस बात की जानकारी नहीं दी गई है।

राजस्थान उपचुनावों में कांग्रेस की जीत पर क्यों खुश है करणी सेना? 

दो डिप्टी सीएम बनाए जा सकते हैं राजे सरकार में

खबरों के मुताबिक वसुंधरा सरकार में अब दो डिप्टी सीएम बनाए जा सकते हैं। इसके साथ ही कई चेहरों की छुट्टी भी हो सकती है। बताया जा रहा है कि पहले वसुंधरा राजे की योजना थी कि शुक्रवार को मंत्रियों से इस्तीफा लिया जाए और शनिवार या रविवार को कैबिनेट में फेरबदल कर दिया जाए। हालांकि, दो डिप्टी सीएम और कैबिनेट में शामिल किए जाने वाले नामों को लेकर RSS नेताओं के साथ बात पूरी नहीं हो सकी, जिसके बाद इस्तीफे लेने का फैसला टाल दिया गया। अब अगले हफ्ते तक राजस्थान सरकार में कैबिनेट में फेरबदल हो सकता है।

राजपूत और ब्राह्मण वोटों को खुश करने की कवायद

राजस्थान में इस साल के आखिरी में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में पार्टी हर वोट को खुश करने की कवायद में जुट गई है।  बताया जा रहा है कि आनंदपाल एनकाउंटर और फिर पद्मावत फिल्म के कारण राजपूत समाज वसुंधरा सरकार से नाराज चल रहा है, जिसे खुश करने के लिए किसी राजपूत नेता को गृहमंत्री बनाया जा सकता है। वहीं गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया को डिप्टी सीएम बनाने की चर्चाएं चल रही हैं। इसके साथ ही ब्राह्मणों को खुश करने के लिए भी कैबिनेट में ब्राह्मण चेहरों को शामिल किया जा सकता है।