comScore

राजस्थान की सियासत: गहलोत कैबिनेट ने तीसरी बार राज्यपाल को भेजा विधानसभा सत्र बुलाने का प्रस्ताव

राजस्थान की सियासत: गहलोत कैबिनेट ने तीसरी बार राज्यपाल को भेजा विधानसभा सत्र बुलाने का प्रस्ताव

हाईलाइट

  • राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच हुई कैबिनेट बैठक
  • राज्यपाल को तीसरी बार भेजा गया सत्र बुलाने का प्रस्ताव

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच आज (28 जुलाई) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में एक बार फिर कैबिनेट बैठक हुई है। सीएम आवास पर हुई मीटिंग में विधानसभा सत्र बुलाने का प्रस्ताव पास हुआ। ये तीसरी बार है जब कैबिनेट ने राज्यपाल को सत्र बुलाने का प्रस्ताव भेजा है। वहीं बीजेपी ने बसपा विधायकों के विलय को लेकर दोबारा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। 

गहलोत सरकार की ओर से राज्यपाल से अपील की गई है कि, उन्हें कैबिनेट द्वारा दी गई सलाह माननी चाहिए, वरना राज्य में संवैधानिक संकट पैदा हो सकता है। बैठक खत्म होने के बाद राज्य सरकार में मंत्री प्रताप सिंह, हरीश चौधरी की ओर से बयान दिया गया कि, हमें बहुमत साबित करने की जरूरत नहीं है, हम पहले से ही बहुमत में हैं। 

राज्य सरकार में मंत्री ने ये भी कहा, तीसरी बार विधानसभा का सत्र बुलाने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है, अगर इस बार भी नहीं माना गया तो फिर से हम कैबिनेट बुलाकर प्रस्ताव भेजेंगे, इसके बाद भी नहीं माना गया तो हम केंद्र से कहेंगे कि आप CRPF की टीम भेजकर हमें जेल में डाल दीजिए। मंत्रियों ने ये दावा भी किया है कि, अगर राजस्थान में चुनाव होंगे तो हम फिर जीतकर आएंगे।

बता दें कि, गहलोत सरकार लगातार विधानसभा सत्र बुलाने की मांग कर रही है। राज्यपाल ने सीएम की मांग को दो बार खारिज किया, बाद में सोमवार को सत्र बुलाने पर सहमत हुए लेकिन उन्होंने गहलोत के सामने तीन शर्तें रखीं और दो सवाल भी किए। राज्यपाल कालराज मिश्र ने राज्य सरकार को विधानसभा सत्र बुलाने से पहले 21 दिन का नोटिस देने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और विश्वास मत परीक्षण की स्थिति में कुछ शर्तों का पालन करने को कहा था।

Rajasthan Crisis: स्पीकर ने SC से वापस ली याचिका, विधानसभा सत्र बुलाने पर सहमत हुए राज्यपाल, रखी ये शर्तें

LIVE Updates: 

बसपा कल यानी बुधवार को अपने 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायक करेगी।

कांग्रेस ने ट्वीट कर बीजेपी पर साधा निशाना-

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि, राजस्थान के राज्यपाल ने 21 दिनों के वक्त की बात इसलिए की है, ताकि बीजेपी अपनी स्थिति मजबूत कर सके। उन्होंने तंज कसा कि, कलराज जी की कला काबिल-ए-तारीफ है।

मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के 6 विधायकों के कांग्रेस में जाने के खिलाफ बीजेपी ने राजस्थान हाईकोर्ट में दोबारा अर्जी लगाई है। बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने ये याचिका दाखिल की है। इससे पहले उनकी ही एक याचिका को राजस्थान हाईकोर्ट ने सोमवार को खारिज कर दिया था।

कमेंट करें
DxK5M