comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

राजीव गांधी हत्याकांड : अपने दोषी बेटे के लिए मां ने मांगी ‘दया मृत्यु’

June 17th, 2018 00:09 IST
राजीव गांधी हत्याकांड : अपने दोषी बेटे के लिए मां ने मांगी ‘दया मृत्यु’

हाईलाइट

  • राजीव गांधी की हत्या के दोषी एजी पेरारीवलन की मां अयपुथम्मल ने की ‘दया मृत्यु’ की मांग।
  • तमिलनाडु सरकार के अनुरोध को राष्ट्रपति द्वारा खारिज कर दिया गया है।
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने भी पिता राजीव गांधी की हत्या दोषियों को माफ कर दिया है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश के पूर्व पीएम राजीव गांधी की हत्या मामले में सात दोषियों को रिहा करने के तमिलनाडु सरकार के अनुरोध को राष्ट्रपति द्वारा खारिज कर दिया गया है। इसके बाद एक दोषी व्यक्ति की मां ने अपने बेटे के लिए ‘दया मृत्यु’ की मांग की है। दोषी एजी पेरारीवलन की मां अयपुथम्मल ने वेल्लोर में कहा कि वो लंबी कानूनी लड़ाई से हताश हो गई हैं। उन्होंने कहा, ‘हम अब और जीना नहीं चाहते। मैं केंद्र और राज्य सरकार से यह अनुरोध करने की योजना बना रही हूं कि हमें मौत दे दी जाए। मैं यह करने जा रही हूं… कृपया मेरे बेटे को दया मृत्यु दीजिए।’’

राहुल गांधी ने दोषियों को माफ कर दिया

बता दें कि राजीव गांधी हत्या मामले में सात दोषी (मुरूगन, पेरारिवलन, संतन, जयकुमार, राबर्ट पायस, रविचंद्रन और नलिनी) 20 साल से अधिक समय से जेल की सलाखों के पीछे कैद हैं। पेरारीवलन की मां ने कहा, "मेरे बेटे को इस मामले में पूछताछ के बहाने पुलिस उठा ले गई थी। उस वक्त वह 19 साल का था और अब वह 47 साल का है। उसकी युवावस्था और उसके जीवन का महत्वपूर्ण समय बर्बाद हो गया।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने भी दोषियों को माफ कर दिया है।


तमिलनाडु सरकार ने दोषियों की रिहाई का पक्ष रखा

अदालत को दिए सीबीआई के एक पूर्व अधिकारी के बयान को याद करते हुए पेरारीवलन की मां ने कहा कि दोषी के इकबालिया बयान के एक हिस्से को हटा दिया गया। तमिलनाडु सरकार ने पांच जून को कहा था कि वह राजीव गांधी हत्या मामले के दोषियों को रिहा करने के पक्ष में है, लेकिन यह विषय सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। 

तमिलनाडु के कानून मंत्री सीवी शनमुगम ने कहा कि राज्‍य सरकार पूर्व प्रधानमंत्री की हत्‍या में बंद हर दोषी की जेल से रिहाई के लिए सभी प्रकार की कानूनी सलाह लेगी। उन्होंने कहा कि हमारी नेता जे जयललिता चाहती थीं कि सभी दोषियों को मानवीय आधार पर छोड़ दिया जाए।

राज्‍य सरकार ने केंद्र सरकार से दो बार इस मामलें को लेकर आग्रह किया है। बता दें कि पेरारीवलन को इस मामले में दोषी पाया गया था कि राजीव गांधी की हत्या को अंजाम देने के लिए पेरारीवलन ने दो बैटरियां खरीदी थी, जिसका इस्तेमाल मई 1991 में एक चुनाव रैली में पूर्व प्रधानमंत्री की श्रेपेरम्बुदूर में हत्या करने में किया गया था।

कमेंट करें
jFKHx