दैनिक भास्कर हिंदी: EC के नोटिस पर बोले राजीव कुमार- इकोनॉमिस्ट के रूप में कही मन की बात

April 4th, 2019

हाईलाइट

  • राजीव कुमार ने NYAY पर दिए गए बयान पर चुनाव आयोग को जवाब भेजा है।
  • राजीव कुमार ने कहा कि उन्होंने एक इकोनॉमिस्ट के रूप में प्रतिक्रिया दी थी।
  • चुनाव आयोग ने राजीव कुमार को नोटिस भेजा था और उनसे जवाब मांगा था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नीति अयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने  कांग्रेस की न्यूनतम आय की घोषणा को लेकर दिए अपने बयान पर चुनाव आयोग के नोटिस का जवाब दिया है। राजीव कुमार ने कहा कि उन्होंने जो भी प्रतिक्रिया दी थी, वह एक इकोनॉमिस्ट के रूप में दी थी। बता दें कि NYAY पर टिप्पणी के लिए चुनाव आयोग ने राजीव कुमार को नोटिस भेजा था और उनसे जवाब मांगा था।

राजीव कुमार ने कहा, 'मैंने कांग्रेस की NYAY योजना के खिलाफ एक इकोनॉमिस्ट के रूप में बात की थी, न कि नीति आयोग के उपाध्यक्ष के रूप में। मैं देश के लिए जरूरी मुद्दों जैसे कि पॉलिसी और इकोनॉमी पर एक इकोनॉमिस्ट के रूप में अपने मन की बात कह सकता हूं। इसलिए मेरी टिप्पणी को नीति आयोग के स्टैंड के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।'

बता दें कि राजीव कुमार ने कांग्रेस पार्टी की ओर से घोषित न्यूनतम आय के चुनावी वादे की आलोचना करते हुए इसे अर्थव्यवस्था के लिये नुकसानदायक बताया था। उन्होंने ये भी कहा था कि, ये योजना कभी लागू नहीं होगी। राजीव कुमार ने कहा था, ये पुराना तरीका है, जो कांग्रेस फॉलो कर रही है। वो चुनाव जीतने के लिए कुछ भी कह और कर सकते हैं। 

राजीव कुमार ने कहा था, 2008 में चिंदबरम वित्तीय घाटे को 2.5 फीसदी से बढ़ाकर 6 फीसदी तक ले गए। यह घोषणा उसी पैटर्न पर आगे बढ़ने जैसा है। राहुल गांधी अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले इसके प्रभाव की चिंता किए बिना घोषणा कर बैठे। अगर यह स्कीम लागू होती है तो हम चार कदम और पीछे चले जाएंगे।

खबरें और भी हैं...