दैनिक भास्कर हिंदी: राजनाथ सिंह 4 और कैबिनेट कमेटियों में शामिल, संसदीय मामलों की कमेटी की करेंगे अध्यक्षता

June 7th, 2019

हाईलाइट

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चार अन्य कमेटियों में भी जगह दी गई है
  • पहले उन्हें सुरक्षा सहित दो प्रमुख कैबिनेट समितियों का सदस्य बनाया गया था
  • राजनाथ सिंह अब संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी की अध्यक्षता करेंगे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जिन्हें सुरक्षा सहित दो प्रमुख कैबिनेट समितियों का सदस्य बनाया गया था, उन्हें अब चार अन्य कमेटियों में भी जगह दी गई है। राजनाथ सिंह अब संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाले राजनीतिक मामलों के सभी महत्वपूर्ण पैनल का हिस्सा होंगे।

मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में 8 कैबिनेट कमेटियों का गठन किया था। इनमें से राजनाथ सिंह को केवल दो कमेटी में शामिल किया गया था। राजनाथ सिंह अब संसदीय मामलों की कैबिनेट कमेटी की अध्यक्षता करेंगे। जबकि उन्हें राजनीतिक मामलों की कैबिनेट कमेटी, निवेश एवं विकास मामलों की कैबिनेट कमेटी के साथ-साथ रोजगार एवं कौशल विकास मामलों की कैबिनेट कमेटी का सदस्य बनया गया हैं। इससे पहले, उन्हें आर्थिक मामलों एवं सुरक्षा मामलों की दो अलग-अलग कैबिनेट कमिटियों में जगह दी गई थी।

राजनाथ सिंह को जहां 6 कमेटियों में जगह दी गई है तो वहीं गृह मंत्री अमित शाह सभी 8 कमेटी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 7 कमेटी, पीयूष गोयल को 5 कमेटी, नितिन गडकरी और नरेंद्र सिंह तोमर को चार-चार कमिटियों में जगह दी गई है। धानमंत्री नरेंद्र मोदी संसदीय और आवास कमेटियों को छोड़कर अन्य सभी 6 कमेटियों में शामिल है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को आर्थिक विकास, निवेश और रोजगार बढ़ाने के लिए अपनी अध्यक्षता में दो नई कैबिनेट समितियों का गठन किया था। नई सरकार आने के बाद आए GDP और बेरोजगारी के आंकड़ों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है इसी को देखते हुए इन दो कमेटियों का गठन किया गया है।

निवेश और विकास संबंधी पांच सदस्यीय कैबिनेट समिति में गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सड़क परिवहन और राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी और रेल मंत्री पीयूष गोयल शामिल हैं।

रोजगार और कौशल विकास संबंधी 10 सदस्यीय कैबिनेट समिति में अमित शाह, सीतारमण, गोयल, ग्रामीण विकास और पंचायत राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक', पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, कौशल और उद्यमिता मंत्री महेंद्र नाथ पांडे, राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार (श्रम) और हरदीप सिंह पुरी (आवास और शहरी मामले) शामिल है।