comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

राज्यसभा चुनाव : झारखंड में भाजपा, झामुमो की जीत तय, कांग्रेस की राह आसान नहीं

June 02nd, 2020 19:30 IST
 राज्यसभा चुनाव : झारखंड में भाजपा, झामुमो की जीत तय, कांग्रेस की राह आसान नहीं

हाईलाइट

  • राज्यसभा चुनाव : झारखंड में भाजपा, झामुमो की जीत तय, कांग्रेस की राह आसान नहीं

रांची, 2 जून (आईएएनएस)। अनलॉक-1 शुरू होने के बाद राज्यसभा की सीटों के लिए 19 जून को चुनाव कराए जाने की घोषणा के बाद झारखंड में दो सीटों के लिए गहमागहमी बढ़ गई।

झारखंड में राज्यसभा चुनाव में दो सीटों के लिए मतदान होना है। वोटों के गणित के आधार पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के प्रमुख शिबू सोरेन और प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष दीपक प्रकाश की जीत तय मानी जा रही है, लेकिन कांग्रेस के शहजादा अनवर के भी मैदान में आ जाने के बाद चुनाव दिलचस्प हो गया है।

झारखंड की दोनों सीटें राजद के प्रेमचंद गुप्ता और निर्दलीय परिमल नथवानी के कार्यकाल पूरे होने के कारण खाली हैं। इन सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होने थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण इसे टाल दिया गया था।

राज्यसभा चुनाव में वोटों के गणित के आधार पर झामुमो के शिबू सोरेन और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश की जीत तय मानी जा रही है। क्रॉस वोटिंग नहीं होने की स्थिति में कांग्रेस के उम्मीदवार की जीत मुश्किल है। लॉकडाउन की घोषणा से पहले ही नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई थी।

झारखंड में वोटों का गणित भाजपा और झामुमो प्रत्याशी के पक्ष में दिख रहा है, हालांकि क्रॉस वोटिंग के बाद गणित के गड़बड़ाने से भी इनकार नहीं किया जा सकता। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के दुमका विधानसभा सीट छोड़ने और कांग्रेस के बेरमो विधायक राजेंद्र सिंह के निधन से 81 सदस्यों वाली विधानसभा में अभी 79 सदस्य ही हैं।

दो सीटों के चुनाव में जीत के लिए उम्मीदवार को 27 वोटों का जादुई अंक पाना जरूरी है।

झामुमो 29 विधायकों वाली पार्टी है, इस कारण शिबू सोरेन का राज्यसभा पहुंचना तय माना जा रहा है। 25 विधायकों वाली भाजपा के उम्मीदवार प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश भी वोटों के गणित में जीत के लिए आश्वस्त हो गए हैं। बाबूलाल मरांडी के भाजपा में आने और ऑल झारखंड स्टूंडेंट यूनियन (आजसू) के दो विधायकों के समर्थन तथा निर्दलीय विधायक अमित यादव के प्रकाश के साथ आने के बाद भाजपा का गणित फिट हो गया है।

इधर, कांग्रेस के फिलहाल 15 विधायक हैं। झामुमो के दो अतिरिक्त वोट, राजद के एक और भाकपा माले के एक वोट को भी गिन लें तो यह संख्या 19 तक पहुंचती है। झारखंड विकास मोर्चा से अलग हुए प्रदीप यादव और बंधु तिर्की के वोट को भी जोड़ लिया जाए तो संख्या 21 तक पहुंचती है। इस स्थिति में कांग्रेस के लिए यह चुनाव जीतना आसान नहीं दिख रह है। हालांकि विधायक कमलेश सिंह व सरयू राय ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दूबे हालांकि कांग्रेस के प्रत्याशी की जीत का दावा करते हैं। उन्होंने कहा कि झामुमो और कांग्रेस के प्रत्याशी की जीत तय है। दूबे ने वोटों का गणित कांग्रेस के पक्ष में नहीं होने की बात को नकारते हुए कहा कि चुनाव के बाद परिणाम आना तय है, अभी इंतजार कीजिए।

कमेंट करें
iGcwD
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।