दैनिक भास्कर हिंदी: राज्यसभा की हार से और मजबूत हुआ है SP-BSP गठबंधन- अखिलेश यादव

March 26th, 2018

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कहना ने कहा है कि BJP भले ही राज्यसभा में एक अतिरिक्त सीट जीत गई हो, लेकिन यह जीत BJP पर उल्टी पड़ सकती है। राज्यसभा चुनाव में SP के समर्थन वाले BSP प्रत्याशी की पराजय के बारे में बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि सत्ता और धनबल का दुरुयोग करना तो BJP का चरित्र रहा है। उन्होंने कहा कि BJP की राज्यसभा में जीत से उनका 'दलित विरोधी चेहरा' उजागर हुआ है, जबकि SP और BSP के बीच बने गठबंधन को और मजबूती मिली है। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव ने पूरे देश को एक संदेश दिया है कि अगले लोकसभा चुनाव में BJP को परास्‍त करना संभव है।

घूम-घूम कर प्रचार करने वाले अपनी सीट नहीं बचा सके 
आगमी लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि चुनाव नजदीक आने के बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकता है। कांग्रेस के साथ उनके अच्‍छे रिश्‍ते हैं और आगे भी रहेंगे। इसके अलावा चुनावों के लिये SP की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि बूथ स्‍तर पर मजबूत प्रबन्‍धन करने के अतिरिक्त पार्टी कार्यकर्ताओं से गांव-गांव जाकर आम लोगों से संवाद स्‍थापित करने को कहा गया है। अखिलेश ने पत्रकारों से बात चीत के दौरान यूपी CM योगी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग (योगी) देश भर में घूम-घूमकर BJP के लिए प्रचार कर रहे थे, वे अपनी ही सीट नहीं बचा सके। इससे इस बात का साफ़ संकेत गया है कि BJP को अगर उसके गढ़ में ही मात दी जा सकती है तो उसे कहीं भी हराना संभव है।

डिम्पल यादव नहीं लड़ेंगी चुनाव 
अखिलेश ने एक नई घोषणा करते हुए बताया कि उनके पार्टी पर परिवारवादी राजनीति करने का आरोप लगता है इस कारण से कन्‍नौज से सांसद उनकी पत्‍नी डिम्‍पल यादव आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने BJP नेता राजनाथ सिंह, कल्‍याण सिंह, रमन सिंह, शिवराज सिंह चौहान द्वारा चलाई जा रही परिवारवादी राजनीति पर निशाना साधते हुए कहा कि इन नेताओं को भी अब इन नेताओं को उदाहरण पेश करने की आवश्यकता है। अखिलेश ने पत्रकारों से SP-BSP गठबंधन पर बातचीत के दौरान कहा, 'मैं मायावती जी को धन्‍यवाद देता हूं।' वहीं SP अध्‍यक्ष ने ‘ईद नहीं मनाने’ सम्‍बन्‍धी मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के हाल हाल में दिए गए बयान को असंवैधानिक करार देते हुए आरोप लगाया कि BJP साम्‍प्रदायिक भावनाएं भड़काने का कार्य हमेशा से करती आई है।