दैनिक भास्कर हिंदी: इमरान खान जब पीएम मोदी की निंदा करते हैं तो कांग्रेस ताली बजाती है : राम माधव

September 26th, 2018

हाईलाइट

  • पीएम मोदी को लेकर दिए गए इमरान खान के बयान पर राम माधव ने कांग्रेस पर साधा निशाना
  • 'नवाज ने जब मनमोहन को देहाती औरत कहा था, तब हम कांग्रेस के साथ थे'
  • 'अब जब इमरान ने पीएम मोदी के लिए कुछ तुच्छ शब्द कहे तो कांग्रेस ताली बजा रही है'

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पीएम मोदी को लेकर दिए गए पाक के वजीर-ए-आजम इमरान खान के बयान पर राम माधव ने कांग्रेस को घेरा है। उन्होंने कहा है कि इमरान खान जब पीएम मोदी की निंदा करते हैं तो कांग्रेस ताली बजाती है। जयपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए राम माधव ने कहा, 'बीजेपी और कांग्रेस में बड़ा अंतर है। बीजेपी हमेशा देश के सम्मान में खड़ी रही है। जब पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने तत्कालीन भारत के पीएम मनमोहन सिंह को देहाती औरत कहा था तो मोदी जी समेत पूरी भारतीय जनता पार्टी यूपीए सरकार के साथ खड़ी थी लेकिन अब जब इमरान ने पीएम मोदी के लिए कुछ तुच्छ शब्द कहे तो कांग्रेस ताली बजा रही है। कांग्रेस के लिए देश के प्रधानमंत्री पद की कोई गरिमा नहीं है।'

गौरतलब है कि भारत द्वारा पाकिस्तान से बातचीत रद्द करने के एक दिन बाद पाक पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा था। उन्होंने पीएम मोदी का नाम लिए बगैर कहा था कि कुछ छोटे लोग बड़े-बड़े ऑफिस में बैठ जाते हैं लेकिन उनके पास भविष्य के लिए दूरदर्शिता नहीं होती। इमरान ने ट्वीट किया था, 'दोनों देशों के बीच शांतिवार्ता फिर से शुरू करने की मेरी पहल पर भारत के अहंकारी और नकारात्मक जवाब से बेहद निराशा हुई। मैं अपने पूरे जीवन भर ऐसे छोटे-छोटे लोगों से घिरा हुआ रहा हूं, जो बड़े-बड़े ऑफिसों में कब्जा कर बैठे हैं लेकिन उनके पास भविष्य देखने की दूरदर्शिता कभी नहीं रही।' कांग्रेस नेताओं ने इमरान के इस ट्वीट के सहारे केन्द्र सरकार पर जमकर निशाने साधे थे।

राम माधव ने इस मुद्दे पर कांग्रेस की आलोचना के साथ ही एक बार फिर अखंड भारत के विचार की बात दोहराते हुए कहा कि हम इस विचारधारा के लोग हैं कि जिनके DNA में अखंड भारत है। कोई कितना भी प्रयत्न करे, एक इंच कश्मीर की जमीन नहीं देंगे। हम 50 सालों तक आतंकवाद से लड़ने के लिए तैयार हैं।

बता दें राम माधव राजस्थान में आगामी चुनाव को देखते हुए जयपुर के दौरे पर थे। उन्होंने यहीं एक सभा को संबोधित करते हुए ये बयान दिए। राजस्थान में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के साथ ही लोकसभा चुनाव से पहले विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। यहां बीजेपी के लिए सरकार में वापसी करना मुश्किल माना जा रहा है।