comScore

COVID-19 : भारत में किस तेजी से फैल रहा कोरोनावायरस, दुनिया के ट्रांसमिशन रेट से कितना कम?

COVID-19 : भारत में किस तेजी से फैल रहा कोरोनावायरस, दुनिया के ट्रांसमिशन रेट से कितना कम?

हाईलाइट

  • भारत में कोरोनावायरस का ट्रांसमिशन पिछले एक हफ्ते में काफी हद तक बढ़ गया
  • 26 मार्च को, भारत में प्रत्येक पॉजिटिव केस औसतन 1.8 लोगों को वायरस पहुंचा रहा था
  • COVID-19 का ग्लोबल ट्रांसमिशन रेट 2 और 3 के बीच होने का अंदाजा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस का ट्रांसमिशन पिछले एक हफ्ते में काफी हद तक बढ़ गया है, फिर भी यह दर वैश्विक दर से काफी कम है। 19 मार्च को, भारत में प्रत्येक पॉजिटिव केस औसतन 1.7 लोगों को वायरस पहुंचा रहा था। 26 मार्च तक यह संख्या बढ़कर 1.81 हो गई, लेकिन ईरान या इटली जैसे देशों की तुलना में ये काफी कम रही। द लांसेट की एक स्टडी में COVID-19 का ग्लोबल ट्रांसमिशन रेट 2 और 3 के बीच होने का अंदाजा लगाया गया है।

30 दिन, छह देश
भारत में कोरोनावायरस के मामलों को तीन से एक हजार तक पहुंचने में एक महीने का समय लगा। इसकी तुलना अगर साउथ कोरिया, इटली, इरान और स्पेन जैसे देशों के पहले महीने के मामलों से की जाए तो पता चलता है कि भारत की कर्व ज्यादा फ्लैट है। डेथ रेट भी इस स्टेज में फ्लैट रहा है। हालांकि भारत इस मामले में सिंगापुर से पीछे है। 16 मार्च के बाद भारत के एक्सपोनेंशियल कर्व में अपवर्ड शिफ्ट देखा गया है। हालांकि, लॉकडाउन के चलते कोरनावायरस के ग्रोथ रेट में कुछ हद तक कमी आने का अनुमान जताया जा रहा है।

सप्ताह दर सप्ताह
हफ्ते दर हफ्ते के लिहाज से देखे तो भारत में कोरनावायरस संक्रमण के मामले 3 से 43 फिर ये 29वें दिन बढ़कर 415 से 1,071 हो गए। वहीं साउथ कोरिया ये मामले 4 से 23 और फिर 29वें दिन 28 से 104 हो गए। जबकि 30वें दिन ये आंकड़ा 1,766 पर पहुंच गया। एक रिपोर्ट से पता चलता है कि साउथ कोरिया में 'पेशेंट 31' एक सुपर-स्प्रेडर था। टेस्टे में पॉजिटिव पाए जाने से पहले इस पेशेंट ने बड़ी संख्या में इस वायरस को लोगों तक पहुंचाया।

सिंगापुर की बात की जाए तो यहां हफ्ते दर हफ्ते के आधार पर मामले 4 से 18 से 43 से 75 से 29वें दिन 90 तक पहुंच गई। 30वें दिन यह 91 हो गई। स्पेन 2 से 151 से 1,639 से 11,178 से 39,673 तक यह आंकड़ा चढ़ गया। फिर एक दिन बाद ये संख्या 47,000 से ज्यादा हो गई। इटली में ये आंकड़ा 3 से 650 से 3,858 से 15,113 से 41,035 (29 वें दिन) और 47,021 (30 वें दिन) तक पहुंच गया। ईरान में आंकड़ा 2 से 141 से 2,922 से 9,000 से 17,361 (29वें) और 18,407 (30वें) तक पहुंच गया।

भारत में कोरोनावायरस से मरने वालों का डेथ रेट भी अन्य देशों की तुलना में कम है। प्रत्येक देश के पहले कोरोनोवायरस मृत्यु के बाद के दो हफ्तों में, भारत की संख्या एक सप्ताह से अगले सप्ताह तक 1 से 4 से बढ़कर 17 हो गई। दक्षिण कोरिया 1 से 13 से 35 तक बढ़ा। स्पेन 1 से 48 से 598 तक चढ़ गया। ईरान 2 से 22 तक चला गया। इटली 2 से 29 से 234 तक बढ़ गया।

ट्रांसमिशन का रेट
यूरोपियन सेंटर फॉर डिसिज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल के अनुसार, भारत में कोरोनावायरस का ट्रांसमिशन रेट 1.81 है। जबकि इटली में ये 2.76 और 3.25 के बीच है। इस संख्या को रिप्रोडक्शन नंबर या R0 कहा जाता है, जिसका उपयोग किसी बीमारी की संक्रामकता का वर्णन करने के लिए किया जाता है। जब R0 एक से कम होता है, तो इसका अर्थ है कि प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति वायरस को दूसरे में नहीं फैलाता है, रोग महामारी बनना बंद कर देता है।

सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस
 

कमेंट करें
sqNEG